पटना: पुलिस लाइन में बवाल मामले में बड़ी कार्रवाई, 175 पुलिसकर्मी बर्खास्त, 23 सिपाही निलंबित

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 4 नवंबर ): पटना पुलिस लाइन में दो दिन पहले हुए बवाल के मामले में ऐसी कार्रवाई की है जो बिहार पुलिस के इतिहास में पहली बार है। पुलिस लाइन में विद्रोह और हिंसक वारदात के मामले में 175 पुलिस प्रशिक्षुओं तथा 10 सिपाहियों को बर्खास्त कर दिया गया है। इसके अलावा 23 सिपाही निलंबित कर दिए गए हैं। 93 पुलिसकर्मियों का तबादला कर दिया गया है।बता दें एक महिला सिपाही की डेंगू से मौत के बाद ज्यादती का आरोप लगाते हुए पुलिस प्रशिक्षुओं ने पुलिस लाइन में कई वरिष्ठ अधिकारियों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा था तथा जबर्दस्त तोड़फोड़ की थी। दो पुलिस अधिकारियों के आवास में घुसकर तोड़फोड़ और परिवारवालों से मारपीट की गई थी। रविवार को मामले की जांच रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई की गई है।

बता दें कि बीते शुक्रवार को साथी महिला सिपाही सविता कुमारी पाठक की मौत से नाराज महिला व पुरुष रंगरूटों ने पटना के लोदीपुर पुलिस लाइन में जमकर बवाल किया था। गुस्साए रंगरूटों ने एसपी ग्रामीण, लाइन डीएसपी समेत कई थानेदारों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा था। यही नहीं, पुलिस लाइन में जमकर तोड़फोड़ की थी और कई वाहनों को क्षतिग्रस्त कर पलट दिया गया था।

दरअसल, साथी रंगरूटों ने आरोप लगाया कि डेंगू होने के बावजूद सीवान निवासी सविता कुमारी पाठक को छुट्टी नहीं दी गई। बीमारी में भी ड्यूटी कराई गई, जिससे उसकी मौत हो गई। यही आरोप लगाकर आक्रोशित महिला रंगरूटों ने सबसे पहले पुलिस लाइन के डीएसपी मो. मसलेहउद्दीन को निशाना बनाया। सभी उनके घर में घुसकर हंगामा करने लगे। यह देख लाइन डीएसपी अपने दफ्तर में गए और सिपाहियों को समझाने की कोशिश की।