10वीं-12वीं का सर्टिफिकेट नहीं, फिर भी मुंबई की 17 वर्षीय लड़की को MIT में मिला दाखिला

नई दिल्ली (30 अगस्त): मुंबई की रहने वाली 17 वर्षीय मालविका राज जोशी को अमेरिका के प्रतिष्ठित मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी (एमआइटी) में ऐडमिशन मिला है। आपको जानकर हैरानी हो सकती है, कि उनके पास 10वीं या 12वीं का सर्टिफिकेट नहीं हैं। फिर भी उन्हें यह उपलब्धि हासिल हुई है।

- मीडिया में आई रिपोर्ट के मुताबिक, मालविका को मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी MIT से बैचलर ऑफ सायेंस की पढ़ाई करने के लिए स्कॉलरशिप मिली है। - मालविका ने इंटरनैशनल इन्फॉरमैटिक्स ओलिंपियाड में तीन बार मेडल हासिल किया है।  - उन्होंने दो रजत और एक कांस्य पदक हासिल किया था, जिसके बाद उन्हें बिना डिग्री के ही MIT में दाखिला मिल गया। - मालविका कंप्यूटर प्रोग्राम में काफी तेज हैं और उन्हें यह विषय बहुत पसंद है।  - मालविका की मां एक ऐसी महिला हैं जो सर्टिफिकेट से ज्यादा ज्ञान को तवज्जो देती हैं और लीक से हटकर अलग तरह का रास्ता चुनने में यकीन रखती हैं। - आपको बता दें, MIT में विभिन्न ओलिंपियाड (गणित, भौतिकी या कंप्यूटर) में मेडल जीतने वाले स्टूडेंट्स को सीधे ऐडमिशन देने का प्रावधान है। - मालविका को उसके मेडल की बदौलत अपने पसंदीदा विषय में MIT में अपने सपने पूरे करने का मौका मिला।  - मालविका हाल ही में बोस्टन से ईमेल पर हुई बात को याद करते हुए कहती हैं कि मैंने चार साल पहले ही स्कूल जाना छोड़ दिया था। - फिर उन्होंने अलग-अलग विषयों के बारे में पता लगाया। प्रोग्रामिंग भी उसमें से एक था। - मालविका ने कहा- मुझे प्रोग्रामिंग काफी अच्छा लगा और मैंने बाकी विषयों के मुकाबले इसको ज्यादा समय देना शुरू कर दिया।