जूनियर बैडमिंटन में 15 वर्षीय लक्ष्य सेन बने दुनिया के नंबर 1 खिलाड़ी

नई दिल्ली( 2 फरवरी ): पहाड़ी राज्य उत्तराखंड के 15 साल के लक्ष्य सेन जूनियर बैडमिंटन के पुरुष एकल वर्ग में दुनिया के नंबर 1 शटलर बन गए हैं। BFA की ओर से जारी जूनियर बैडमिंटन वर्ल्ड रैंकिंग में टॉप 10 खिलाड़ियों में लक्ष्य एकमात्र भारतीय हैं। लक्ष्य ने 8 टूर्नामेंट खेलकर 16,903 अंक हासिल किए हैं, जबकि उनसे एक पायदान नीचे चीनी ताइपे के खिलाड़ी चिया हाओ ली के 16,091 अंक हैं। लक्ष्य 10 साल की उम्र से प्रकाश पादुकोण बैडमिंटन अकैडमी में अपनी प्रतिभा को निखार रहे हैं। इस किशोर खिलाड़ी की प्रतिभा को देखकर कोच प्रकाश पादुकोण खुद उनकी खास ट्रेनिंग का ध्यान रखते हैं।

विभिन्न स्तरों पर बैडमिंटन में शानदार प्रदर्शन के चलते लक्ष्य को अपनी बैडमिंटन प्रतिभा को और निखारने के लिए ओलिंपिक गोल्ड क्वीस्ट (ओजीक्यू) से भी मदद मिल रही है। ओजीक्यू उन्हें 11 साल उम्र से मदद दे रहा है। ओजिक्यू ने लक्ष्य को फुल टाइम फिजियो और ट्रेनर उपलब्ध कराया हुआ है और उनकी फिटनेस को ध्यान में रखते हुए उन्हें स्पेशल डाइट पर भी रखा हुआ है। लक्ष्य उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले से ताल्लुक रखते हैं।