राजस्थान में मिले 15 करोड़ साल डायनासोर के पुराने पैरों के निशान

नई दिल्ली (12 जून): यूरो और अमेरिका के बाद अब भारत में भी 15 करोड़ साल पुराने डायनासोर के पदचिन्ह मिले हैं। जोधपुर की जयनारायण व्यास यूनिवर्सिटी की जियोलॉजिकल डिपार्टमेंट की तीन शोद्धकर्ताओँ की एक टीम ने कहा है कि जैसलमेर के लाठी फॉरमेशन में मिले पदचिन्ह यूबल्ट्स ग्लनरोंसेन्सिस थेरोपॉड डायनासोर के हैं।

अभी तक इन के अवशेष अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, स्पेन,स्वीडन, स्लोवाकिया, पौलेंड और फ्रांस में मिले थे। टीम के नेतृत्वकर्ता वीरेंद्र सिंह परिहार ने बताया कि भारत में इस डायनासोर के पद चिन्ह मिलने के बाद अब उनके अवशेष ढूढने में आसानी हो जायेगी। उनके साथी डॉक्टर सुरेश चन्द्र माथुर और डॉक्टर शंकर लाल नामा ने कहा कि कच्छ बेसन के कैत्रोल और जैसलेमेर के बैशाखी फॉरमेशन में डायनासोर के अवशेष मिलने की संभावना सबसे ज्यादा हैं।