इमरजेंसी के लिए अब होगा सिर्फ 112 नंबर, बाकी होंगे बंद

नई दिल्ली (29 मार्च): इमरजेंसी में अब आप एक ही नंबर से सभी प्रकार की सहायता पा सकेंगे। सरकार ने '112' नंबर को देश के नेशनल इमरजेंसी नंबर के रूप में मान्यता दे दी है। भारत सरकार ने इस इमरजेंसी नंबर को यूएस के 911 और यूके के 999 की तर्ज पर लागू किया है।

यह इमरजेंसी नंबर 100 (पुलिस), 101 (फायर), 102 (एम्बुलेंस), 108 (आपात सेवा) की जगह अकेले ही काम करेगा। हालांकि यह सेवा एक साल में शुरू की जा सकेगी। इसके चालू होते ही पहले के सारे इमरजेंसी नंबर बंद हो जाएंगे। बता दें कि ट्राई ने भी सरकार की बात को मान लिया है और इस योजना को हरी झंडी दे दी है। अब टेलीकॉम मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद की मंजूरी के बाद यह सेवा शुरू हो जाएगी। यह सेवा सभी को उनकी भाषा में मिले इसके लिए राज्यों को कॉल सेंटर शुरू किए जाएंगे।