2 सालों में बलूचिस्तान में मारे गए 1,040 लोग

नई दिल्ली (1 सितंबर): बलूचिस्तान में 2014 से 1,040 लोगों को मारा जा चुका है। सीनेट कमिटी ने इस बारे में जानकारी दी है।

- बलूचिस्तान के पुलिस अधिकारियों ने बुधवार को कहा, बलूचिस्तान में पिछले दो सालों में करीब 1,040 लोग मारे गए।  - बलूचिस्तान में कानून व्यवस्था के हालात पर जानकारी देते हुए मानवाधिकारों पर सीनेट कमिटी को पुलिस ने जानकारी दी कि 2014-15 में 545 लोग अलग-अलग घटनाओं में मारे गए। जबकि, 2015-16 में 495 लोगों की हत्या हुई। - क्वेटा सिविल ब्लास्ट के बारे में पुलिस ने बताया कि घटना में करीब 77 लोगों की मौत हुई। घटनास्थल से आत्मघाती हमलावर के शरीर के टुकड़े बरामद हुए। हालांकि, हमलावर की पहचान साबित नहीं हो सकी है। - मीटिंग के दौरान कमिटी चेयरपर्सन सीनेट्रो नसरीन जलील ने कहा कि पुलिस अधिकारियों ने जो आंकड़े पेश किए वे अधूरे हैं। क्योंकि बलूचिस्तान में ज्यादातर इलाकों पर पुलिस का नियंत्रण ही नहीं है।