बिहार: न्यूज 24 के खबर का असर, शराबबंदी मामले में 10 थाना प्रभारी निलंबित

नई दिल्ली (5 अगस्त): बिहार में लगातार न्यूज 24 की खबर 'ऑपरेशन चीयर्स' का असर देखने को मिल रहा है। नया मामला थाना प्रभारियों के निलंबन का है। शराबबंदी को लेकर बिहार में पुलिस के खिलाफ पहली बड़ी कार्रवाई हुई है। पुलिस मुख्यालय ने सूबे के दस थाना प्रभारियो को निलंबित किया। अब ये अगले दस साल तक थाना प्रभारी नहीं बन पाएंगे। इसमें 10 थाना प्रभारियों को निलंबित कर दिया गया है। 

बता दें कि इससे पहले न्यूज24 ने बिहार में शराबबंदी को लेकर पर्दे के पीछे की कहानी का पर्दाफाश किया था। यही कारण था कि बिहार विधानसभा में इस मुद्दे को उठाया गया था। नंद किशोर यादव ने इस मुद्दे को उठाया। उन्होंने कहा कि मैंने न्यूज 24 पर देखा कि शराब की होम डिलीवरी हो रही है।

बता दें कि बिहार में प्रतिबंध के बाद भी बिक रही शराब पर न्यूज़24 ने 'ऑपरेशन चीयर्स' नाम से स्टिंग किया था जिसके बाद हरकत में आई पुलिस ने गैरकानूनी तरीके शराब बेचने वाले होटल मालिक को गिरफ्तार कर लिया। इतना ही नहीं होटल पर भी पाबंदी लगा दी गई।

दरअसल, बिहार की नीतीश कुमार सरकार ने हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में ये वादा किया था कि राज्य में शराब बंदी की जाएगी। उन्होंने अपना वादा निभाया सरकार बनने के बाद शराब बैन भी कर दी।

शराब बैन भले ही हो गई, लेकिन बिकनी बंद नहीं हुई। नीतीश सरकार ने फैसला ले लिया, लेकिन फैसले को पूरी तरह लागू नहीं कर पाई। न्यूज़24 के स्टिंग ऑपरेशन में कुछ ऐसी ही सच्चाई सामने आई। खुफिया कैमरे से खुलासा हुआ है कि बिहार में आज भी शराब की बहार है।

4 हजार करोड़ के राजस्व का नुकसान करके बिहार सरकार ने राज्य में शराब बैन की, लेकिन 3 महीने से बैन के बावजूद बिहार में शराब बिक रही है। न्यूज़24 ने इस सच्चाई को खुफिया कैमरे के जरिए सामने लाने का फैसला किया।

शुरुआत बिहार की राजधानी पटना से की गई। पटना के कुछ शराब बेचने वालों के नंबर मिले। जब न्यूज़24 संवाददाता ने उन्हें फोन किया, तो बहुत ही आसानी से शराब का कोई भी ब्रांड मिल गया। थोड़ा पैसा ज्यादा देने पड़े, लेकिन तकलीफ बिल्कुल नहीं हुई।