ATS ने किया खुलासा: इसलिए नोएडा में डेरा डाले हुए थे यह नक्सली

लखनऊ (16 अक्टूबर): यूपी एटीएस ने नोएडा के सेक्टर 49 से 9 संदिग्ध नक्सलियों को गिरफ्तार कर उनके खतरनाक मंसूबों का खुलासा किया है। यूपी एटीएस के मुताबिक इन नक्सलियों ने आर्थिक संसाधनों की तलाश में पूर्वी यूपी और बिहार से नोएडा का रुख किया था और कई महीनों से यहां डेरा डाल रखा था।

दिवाली से पहले विस्फोटक के साथ हुई इनकी गिरफ्तारी से माना जा रहा है कि ये सभी दिल्ली-एनसीआर में बड़ी साजिश रच रहे थे। यूपी एटीएस के आईजी असीम अरुण ने बताया, 'पूर्व सूचना के आधार पर छापेमारी की गई जिसमें नोएडा से 9 नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया। दसवें नक्सली रंजीत की गिरफ्तारी आज सुबह चंदौली से हुई जो इनका कमांडर है। इनसे डेटोनेटर और विस्फोटक बरामद हुए हैं।'

आईजी ने कहा, 'उनका मकसद इलाके में वर्चस्व स्थापित करना नहीं था। वह यहां इसलिए आए थे क्योंकि जिन इलाकों (बिहार और यूपी) में ये सक्रिय हैं, वहां उन्हें संसाधन की कमी हो रही थी और वे यहां लूटपाट, अपहरण, सुपारी लेकर हत्या की घटना से संसाधन जुटाने आए थे।' आईजी ने बताया कि अभी तक की पूछताछ से यह बात सामने आई है कि वे पैसों के लिए सुपारी लेकर हत्या, बैंक और एटीएम में लूटपाट की योजना बना रहे थे।

अरुण ने बताया कि नक्सलियों से सात पिस्तौलें, डेटोनेटर और विस्फोटक बरामद हुए हैं, जबकि चंदौली में गिरफ्तार किए गए रंजीत से तीन राइफलें बरामद की गई हैं, जिनमें एक आर्म्ड फोर्स की इंसास राइफल शामिल है। इसके अतिरिक्त एक एसएलआर और एसएलआर की तीन मैगजीन भी बरामद हुई हैं।