यहां आज भी हो रही है पुराने नोटों की अदला-बदली

नई दिल्ली (6 जून): नोटबंदी हुए तकरीबन डेढ़ साल से ज्यादा का समय बीत चुका है। अब देश में कोई ऐसा रास्ता नहीं बचा है जिससे पुराने 1000 और 500 के नोटों को बदला जा सके। लेकिन अगर आपसे कहा जाए कि नोटों की अदला-बदली अभी भी संभव है। आपको बता दें कि चोर दरवाजे से यह गोरखधंधा अब भी जारी है। गाजियाबाद पुलिस ने ऐसे ही गैंग के 10 बदमाशों को गिरफ्तार कर करीब एक करोड़ रुपये की पुरानी करंसी बरामद की है।गौरतलब है कि ये रुपये दो कारों से नेपाल ले जाए जा रहे थे ताकि वहां इन्हें एक्सचेंज कराया जा सके। एसएसपी वैभव कृष्ण के मुताबिक, पुलिस को सोमवार रात मुखबिर से सूचना मिली थी कि कुछ लोग दो कारों में बड़ी मात्रा में पुरानी करंसी लेकर जा रहे हैं। कविनगर थाना प्रभारी प्रदीप त्रिपाठी के नेतृत्व में काम कर रही टीम ने पूजा कट के पास से इन दो कारों को पकड़ा।गिरफ्तार आरोपितों में गाजियाबाद निवासी पिंटू, राहुल कुमार, मेरठ के रहने वाले राहुल शर्मा, काव्य, सचिन, मथुरा निवासी दीपक, दिल्ली के गौरव गर्ग, अवतार सिंह, अरुण गुप्ता और पलवल निवासी राजेश हैं। अवतार ड्राइवर, जबकि बाकी इंश्योरेंस एजेंट हैं। आरोपितों ने पूछताछ में बताया कि ये रुपये उन्हें ग्रेटर नोएडा के अनिल दीक्षित और आगरा के मिस्टर यादव नामक शख्स के माध्यम से मिले थे। चार दिन पहले ग्रेनो से पुरानी करंसी उठाई थी।