ऑनलाइन शॉपिंग के नाम पर करोड़ों की ठगी, युवती समेत 10 गिरफ्तार

नोेएडा (23 नवंबर): देश में नोटबंदी के बाद जहां कैशलेस लेनदेन और ऑन लाइन शॉपिंग कारोबार बढ़ा है वही ऑनलाइन फ्रॉड और आर्थिक अपराध के मामलों में बेतहाशा वृद्धि हुए है। हाई टेक सिटी नोएडा मे जिस प्रकार ऑनलाइन फ्रॉड के केस दर्ज़ हुए और आरोपीओ की गिरफ्तारी हुए है उसने आर्थिक अपराधो की नगरी माने जाने वाले शहर मुंबई, और दिल्ली को भी पीछे छोड़ दिया है।

नया मामला नोएडा के सेक्टर 20 क्षेत्र का है। जहां विभिन्न सेक्टर मे ऑनलाइन शॉपिंग के सेल कंपनी बना कर लोगो को चूना लगाया जा रहा है। पुलिस ने ऑनलाइन फ्रॉड कर रही चार कंपनी पर छापा मर कर एक दर्जन लोगो को गिरफ्तार किया है। जिनके कब्जे से सीपीयू, डेक्सटॉप, इंटरकॉम, कीबोर्ड, कॉलिंग फोन,एक प्रिंटर,एक लेपटॉप,पेनड्राईव, यूपीएस, हैड फोन, राउटर ओर कैश रुपये किये बरामद।   आपको बता दें कि ये कम्पनी दूसरी कम्पनियों का डाटा चोरी कर उपभोक्ता तक पंहुच बनाती थी,पहले इंटरनेट व कॉल के जरिये लोगो को अपने प्रोडक्ट की तरफ आकर्षित करती थी और फिर कम्पनी के पेटीएम या अकॉउंट में पैसा को ट्रांसफर करा लेते थे। लेकिन कस्टमर को उसका ख़रीदा या बुक किया हुआ सामान नहीं पंहुचाते थे। कंपनी ज्वैलरी से लेकर घर में यूज होने वाले और हाँथ में पहनने वाली घडिओं की शॉपिंग नेट पर शो कराती और उसे लोगो को ऑनलाइन शॉपिंग के प्रेरित करती थीं। साथ ही जीएसटी और इंसोरेंस के बहाने अधिक चार्ज भी बसूलते थे।

इस साल अबतक एक दर्जन से ज्यादा ऑनलाइन फ़्रांड दर्ज़ हो चुके है। जिनमे से सात मामले नोएडा के 20 थाना क्षेत्र के है। एसएसपी का कहना है की पुलिस इन फ्राड को बिल्डिंग किराए पर देने वाले मकान मालिको के खिलाफ अभियान चलाएगी।