अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप को जान का खतरा !

नई दिल्ली (20 मार्च):  अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप की जान को खतरा है। यहां तक कि वो अपने सरकारी आवास व्हाइट हाउस में भी सुरक्षित नहीं हैं। इस बात का खुलासा एक पूर्व सीक्रेट ऐजेंट ने किया है। अमेरिता के पूर्व राष्ट्रपतियों को सुरक्षा दे चुके सीक्रेट सर्विस केएजेंट ने आगाह किया है कि राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप व्हाइटहाउस में भी सुरक्षित नहीं हैं और आतंकवादी हमले की स्थिति में सीक्रेट सर्विस भी उनकी रक्षा करने में नाकाम रहेगी। 


सीक्रेट सर्विस के एजेंट डॉन बोनगिनो का यह बयान व्हाइटहाउस की बाड़ के अंदर कूद कर आ जाने और उच्च सुरक्षा वाले इस स्थान पर करीब 15 मिनट तक घूमने वाले एक व्यक्ति को गिरफ्तार किए जाने की घटना के एक सप्ताह बाद आया है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बोनगिनो ने कहा, ‘घुसपैठिए ने अनेकों अलार्म बंद किए, उसे अनेकों अधिकारियों ने भी देखा, लेकिन उस पर कोई खास ध्यान नहीं दिया। यह बड़ी आश्चर्यजनक बात है।’ बोनगिनो बराक ओबामा और जॉर्ज डब्ल्यू बुश को सुरक्षा प्रदान कर चुके हैं। उन्होंने कहा, ‘यह दिखाता है कि राष्ट्रपति व्हाइटहाउस में भी सुरक्षित नहीं हैं। उसने कहा कि सीक्रेट सर्विस के पास राष्ट्रपति की सुरक्षा के लिए पर्याप्त सुविधाएं और जवान नहीं हैं।


व्हाइट हाउस की बाड़ लांघ कर 15 से ज्य़ादा व्हाइट हाउस में किसी संदिग्ध का घूमना यह दर्शाता है कि राष्ट्रपति की सुरक्षा बेहद कमजोर है। आतंकवादियों को किसी भी बड़ें हमले के लिए मात्र कुछ सैकंड्स की आवश्यकता होती है। उतनी ही देर में वो अपना मकसद हासिल कर लेते हैं। यहां तो 15 मिनट से ज्यादा एक संदिग्ध घूमता रहता है और सीक्रेट सर्विस उसे गिरफ्तार नहीं कर पाती। दरअसल, व्हाइटहाउस की बाढ़ लांघ कर अंदर घुसने वाले की पहचान कैलिफोर्निया के जोनाथन टी ट्रॉन (26) के तौर पर की गई है। वो व्हाइट हाउस में 11:21 बजे घुसा और उसे 11:38 पर गिरफ्तार किया जा सका। इस घटना के दौरान राष्ट्रपति ट्रंप  आवास पर थे।