Blog single photo

देश की सबसे तेज ट्रेन 'वंदे भारत एक्सप्रेस' पर फिर पत्थरबाजी, खिड़कियां टूटीं

देश की सबसे तेज गति की ट्रेन 'वंदे भारत एक्सप्रेस' पर एक बार फिर से पत्थरबाजी की घटना हुई है। नई दिल्ली से कानपुर की ओर जा रही वंदे भारत एक्सप्रेस पर टुंडला के पास पत्थर फेंका गया है। इससे खिड़की क्

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (20 फरवरी): देश की सबसे तेज गति की ट्रेन 'वंदे भारत एक्सप्रेस' पर एक बार फिर से पत्थरबाजी की घटना हुई है। नई दिल्ली से कानपुर की ओर जा रही वंदे भारत एक्सप्रेस पर टुंडला के पास पत्थर फेंका गया है। इससे खिड़की क्षतिग्रस्त हो गई।  बुधवार को इस ट्रेन पत्थर फेंका गया जिससे इसकी खिड़की के शीशे टूट गए। 

'वन्दे भारत एक्सप्रेस'  पर दो महीने में ऐसी तीसरी घटना हुई है। यह पहली बार है जब संचालन शुरू होने के बाद ट्रेन पर पत्थर फेंका गया है। उत्तर रेलवे के प्रवक्ता दीपक कुमार ने यह जानकारी देते हुए बताया कि रेलगाड़ी टुंडला स्टेशन पार कर रही थी तभी यह घटना घटी। इससे पहले 20 दिसंबर 2018 और 2 फरवरी 2019 को भी वंदे भारत एक्सप्रेस पर पत्थर फेंका गया था. रेलवे अधिकारियों के लिए ये चिंता की बात है कि लगातार इस तरह की घटना हो रही है। 

इससे पहले ट्रायल रन के दौरान वंदे भारत एक्सप्रेस पर पत्थर फेंका गया था।  इसकी वजह से कई यात्रियों में डर का माहौल भी हो गया है। सोशल मीडिया पर कई यूजर्स ने पत्थरबाजों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। पहले हुई ट्रेन पर पत्थरबाजी की घटना के बाद रेलवे पुलिस फोर्स ने आस पास के इलाकों में अपनी चहलकदमी बढ़ा दी थी। दिल्ली में इस तरह की कई घटनाओं की जांच में सामने आया कि अधिकांश पत्थरबाज छोटे बच्चे थे। तब से, RPF ने उन्हें रेलगाड़ियों में पत्थर फेंकने से रोकने के लिए खिलौने, मिठाइयाँ, रंगीन पेंसिलें और अन्य ऐसी चीजें दीं। 

बता दें कि चेन्नई के इंटिग्रल कोच फैक्ट्री (आईसीएफ) द्वारा सौ करोड़ रुपये की लागत से इस ट्रेन को तैयार किया गया है। इस ट्रेन में अलग से इंजन नहीं है, बल्कि कोच में ही इंजन के हिस्से लगे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 फरवरी को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से हरी झंडी दिखाकर ट्रेन का उद्घाटन किया था। दिल्ली और वाराणसी के बीच सप्ताह में पांच दिन इसे चलाया जा रहा है। शुरुआत में इसे ट्रेन 18 का नाम दिया गया था,इसकी रफ्तार 180 km/h की है। 

ये ट्रेन नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से सुबह 6:00 बजे चल कर वाराणसी दोपहर 2:00 बजे पहुंचेगी वापसी की यात्रा में ट्रेन वाराणसी से दोपहर 3:00 बजे चलकर नई दिल्ली रात 11:00 बजे पहुंचेगी. ट्रेन रास्ते में कानपुर और इलाहाबाद (प्रयागराज) रुकेगी।

Image: Google

NEXT STORY
Top