रॉबर्ट वाड्रा बोले, राजनीतिक फायदे के लिए घसीटा जा रहा है मेरी मां का नाम

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 जनवरी):  रॉबर्ट वाड्रा ने केंद्र सरकार पर राजस्थान के बीकानेर में 275 बीघा जमीन खरीद मामले में ईडी की जांच को लेकर गंभीर आरोप लगाए हैं। वाड्रा ने कहा है कि मामले में अब उनकी मां के नाम को जबरन घसीटा जा रहा है। ईडी के समन पर रॉबर्ट वाड्रा ने कहा है कि पिछले कुछ सालों से वे जांच एजेंसियों और कोर्ट का पूरा सहयोग कर रहे हैं, लेकिन अब उनकी मां के नाम को मामले में जबरन घसीटा जा रहा है, जबकि उनकी मां को ईडी से कोई समन नहीं मिला है।

वाड्रा ने ट्विटर पर एक के बाद एक तीन पोस्ट शेयर करते हुए कहा है कि उनकी मां 75 साल की महिला हैं और वे राजनीति से अलग निजी जिंदगी जी रही हैं। वाड्रा के अनुसार सरकार राजनीतिक फायदे के लिए मीडिया के सामने कई मुद्दे उछाल रही है, लेकिन बदले की राजनीति के लिए बुजुर्ग महिला को मामले में खींचना पूरी तरह गलत है।

बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के जीजा रॉबर्ट वाड्रा और मोरीन वाड्रा की मुसीबतें बढ़ती हुई दिखाई दे रही हैं। राजस्थान हाईकोर्ट के जस्टिस पुष्पेंद्र सिंह भाटी की कोर्ट ने सोमवार को स्काईलाइट हॉस्पिटेलिटी लिमिटेड की याचिका पर सुनवाई करते हुए फर्म के सभी साझेदारों को ईडी के समक्ष पेश होकर जांच में सहयोग देने के आदेश दिए हैं।  कोर्ट में सुनवाई के दौरान यूनियन ऑफ इंडिया की ओर से पैरवी करते हुए एएसजी राजदीप रस्तोगी ने कोर्ट को बताया कि यह कोई एफआईआर नहीं है और ना ही कोई इस मामले में आरोपी है।

सुनवाई के दौरा कोर्ट ने कहा कि यह महज एक शिकायत पर की गई जांच है, जिसे रोका नहीं जा सकता। राजदीप रस्तोगी के तर्कों से संतुष्ट होते हुए कोर्ट ने पूर्व में कंपनी और उसके पार्टनर के लिए कोर्ट द्वारा जारी किए गए नो कोर्सिव एक्शन के आदेश को स्थगित करते हुए कंपनी के सभी पार्टनर्स को ईडी के समक्ष पेश होने के आदेश दिए हैं।