फतेहपुर में राजनाथ सिंह का विरोध, दिखाए काले झंडे

फतेहपुर (9 दिसंबर): उत्तर प्रदेश में अगले 2-3 महीने में विधानसभा चुनाव होने हैं और तमाम पार्टियां शिद्दत से चुनावी प्रचार में जुटी है। इसी कड़ी बीजेपी नेता और केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह फतेहपुर पहुंचे। लेकिन बीजेपी की इस परिवर्तन यात्रा के दौरान राजनाथ सिंह को यहां लोगों के भारी विरोध का सामना करना पड़ा। इस रैली में जब राजनाथ सिंह भाषण दे रहे थे तो कुछ लोगों ने मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए उन्हें काले झंडे भी दिखाए।

भारी भीड़ से उत्साहित राजनाथ सिंह ने रैली को 'रैला' करार दिया। राजनाथ का भाषण चल ही रहा था तभी मीडिया गैलरी में पहुंचे कुछ युवकों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। इन युवकों ने मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए गृहमंत्री को काले झंडे दिखाए जिसके बाद बीजेपी समर्थकों ने युवकों की पिटाई कर दी।

हालांकि मंच से राजनाथ ने अपने समर्थकों से शांत रहने की अपील की लेकिन बीजेपी कार्यकर्ताओं ने विरोध कर रहे युवकों को पीट-पीट कर पुलिस के हवाले कर दिया। गृहमंत्री का रैली में विरोध किए जाने के मुद्दे पर पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों ने चुप्पी साध रखी है। अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि रैली की सुरक्षा में चूक कैसे हो गई।

इससे पहले, रैली को संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार और ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक की तारीफ भी की। उन्होंने बिहार के सीएम द्वारा नोटबंदी के समर्थन किए जाने की सराहना करते हुए कहा कि वह एक ईमानदार नेता हैं। राजनाथ सिंह ने समाजवादी पार्टी और बीएसपी पर जोरदार हमला करते हुए कहा, 'यूपी में ना बुआ की ना बबुआ की, सरकार बनेगी फुलवा की, कमल के फुलवा की।'