छापेमारी में क्लर्क निकला करोड़ों का मालिक

इंदौर (9 दिसंबर): मध्यप्रदेश में करोड़पति क्लर्कों के मिलने का सिलसिला जारी है। इंदौर में लोकायुक्त की टीम ने शुक्रवार सुबह इंदौर विकास प्राधिकरण के क्लर्क (सहायक ग्रेड-दो) राजेंद्र बिरथरे के संतनगर स्थित आवास पर छापेमारी की। छापेमरी के दौरान क्लर्क दबिश में उनके पास आय से अधिक की संपत्ति होने का खुलासा हुआ है।

अधिकारियों के मुताबिक आय से अधिक संपत्ति होने की शिकायत पर शुक्रवार सुबह बिरथरे के संतनगर के आवास पर छापेमारी की। छापेमारी के दौरान मिले दस्तावेजों के मुताबिक उनके इंदौर में 2 घर और एक भूखंड हैं। इसके अलावा एक किलो से ज्यादा सोने के गहने मिले है। बिरथरे के 12 बैंकों में 37 खाते हैं। इसके अलावा लोकायुक्त ने बाबू की और अधिक संपत्ति के दस्तावेज मिलने की संभावना जताई है।

इससे पहले लोकायुक्त पुलिस ने एक इंजीनियर के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति के मामले में कार्रवाई की थी। लोकायुक्त ने इंजीनियर के घर पर छापा मारा। पुलिस को घर से चार मकान और दो प्लॉट के कागजात सहित एक किलो सोना बरामद हुआ। इंजीनियर आनंद प्रकाश राणे पीडब्ल्यू में बतौर कार्यपालन इंजीनियर तैनात हैं।