मुंबई टेस्ट में मुंबई का ही कोई खिलाड़ी नहीं, ऐसा पहली बार

नई दिल्ली(9 दिसंबर): भारत और इंग्लैंड के बीच मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में सीरीज का चौथा टेस्ट खेला जा रहा है। इस टेस्ट की मैच की एक खास बात यह है कि ऐसा पहली बार है, जब कोई टेस्ट मुंबई में खेला जा रहा है और टीम इंडिया में मुंबई का ही कोई खिलाड़ी प्लेइंग इलेवन में नहीं है।

 

- 1933 में जब पहली बार भारत में टेस्ट मैच खेला गया था तो इसकी मेजबानी मुंबई ने ही की थी। यहां के बॉम्बे जिमखाना मैदान पर 15 से 18 दिसंबर तक भारत और इंग्लैंड के बीच खेला गया टेस्ट मैच इंग्लैंड ने 9 विकेट से जीता था। इस मैच में मुंबई के 4 प्लेयर्स खेले थे।

- गुरुवार से भारत और इंग्लैंड के बीच शुरू हुए चौथे टेस्ट से पहले मुंबई में खेले गए 43 टेस्ट मैचों में मुंबई का कोई न कोई प्लेयर जरूर खेला था। यह सिलसिला हालांकि गुरुवार को तब टूटा जब इंग्लैंड के खिलाफ विराट कोहली की कप्तानी में उतरी भारतीय टीम में मुंबई का कोई प्लेयर नहीं था।

- 1933 में हुए भारत-इंग्लैंड टेस्ट में मुंबई के 4 प्लेयर लक्ष्मीदास जय, विजय मर्चेंट, सोराबजी कोलाह और रुस्तमजी जमशेदजी प्लेइंग इलेवन में शामिल थे। इन 2 टीमों के बीच गुरुवार से शुरू हुए चौथे टेस्ट से ऐन पहले मुंबई के अजिंक्य रहाणे ऊंगली में फ्रैक्चर होने के कारण सीरीज से बाहर हो गए।