एयर फोर्स वन बनाम एयर इंडिया वन... ये हैं राष्ट्राध्यक्षों के उड़न खटोले



नई दिल्ली (9 दिसंबर): अमेरिका के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले विमान के ऑर्डर कैंसिल करना चाहते हैं। ट्रंप ने इसकी वजह सरकारी खर्च में कटौती बताया है। ट्रंप ने ट्वीट कर कहा कि बोइंग अमेरिका के भावी राष्ट्रपतियों के लिए न्यू ब्रांड 747 एयरफोर्स वन बना रहा है लेकिन इनकी कीमतें बहुत ज्यादा हैं। 4 अरब डॉलर से भी ज्यादा। ऐसे में इनका ऑर्डर कैंसिल कर देना चाहिए। आइए जानते हैं अमेरिका और भारत समेत कुछ अन्य देशों के राष्ट्राध्यक्षों के विमानों के बारे में...


एयरफोर्स वन


अमेरिका के राष्ट्रपति के लिए एयरफोर्स वन के दो विमान हैं जो बारी-बारी से कुछ महीने में अदला-बदली होते रहते हैं।

यह बोइंग 747-200बी जेट विमान है। इसपर बड़े अक्षरों में 'यूनाईटेड स्टेट ऑफ अमेरिका' लिखा है और राष्ट्रपति की सील लगी है।

यह विमान 563 मील प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भर सकता है। इसमें उड़ान के दौरान ही ईंधन भरने की क्षमता है।

इस विमान में कमांडर-इन-चीफ किसी संकट की स्थिति में प्लेन को मोबाइल कमांड सेंटर के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं।


भारत


भारत के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री बोइंग 747 जेट विमानों का इस्तेमाल करते हैं। इस पर एयर इंडिया वन लिखा रहता है। प्रधानमंत्री विदेश दौरे के लिए बोइंग 747 जेट विमानों का इस्तेमाल करते हैं लेकिन देश के भीतर कहीं आने-जाने के लिए एयरफोर्स के स्पेशल विमान का इस्तेमाल करते हैं। हालांकि प्रधानमंत्री के लिए अब अमेरिकी राष्ट्रपति के एयरफोर्स वन की तरह ब्रांड न्यू बोइंग 777-300 विमान आने वाले हैं। इन्हें एयर इंडिया वन 'ए' कहा जाएगा।

अत्याधुनिक तकनीक से लैस इस विमान में ग्रेनेड और रॉकेट हमले करने की क्षमता होगी।

इसमें ऐसी तकनीक होगी जो दुश्मन के रडार को जाम कर देगी।

इसमें एंटी-मिसाइल डिफेंस सिस्टम है। इनमें एक्जीक्यूटिव ऑफिस और बेडरूम भी होंगे।


पाकिस्तान


90 के दशक में नवाज शरीफ और बेनजीर भुट्टो अपने सरकारी दौरों के लिए बोइंग 737 विमानों का इस्तेमाल करते थे। नब्बे के दशक के आखिरी वर्षों के दौरान प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की सरकार ने बोइंग 737-300 विमान खरीदे थे। लेकिन 1999 में तख्तापलट के बाद सरकार बदली तो बोइंग 737 विमानों को पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस को हमेशा के लिए दे दिया गया। इसके बाद पाकिस्तान के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री सरकारी दौरे के लिए पीआईए के एयरबस ए310-300 का इस्तेमाल करते हैं। पाकिस्तान में पीएम सहित तमाम राजनेता घरेलू इस्तेमाल के लिए लग्जरी जेट विमान का इस्तेमाल करते हैं।


चीन


चीन के राष्ट्रपति सरकारी दौरे के लिए मोडिफाइड कमर्शियल एयरक्राफ्ट का इस्तेमाल करते हैं। यह आम तौर पर एयर चाइना का बोइंग 747-400 विमान होता है। चीन 2001 में राष्ट्रपति के लिए बोइंग जेट का ऑर्डर करने वाला था लेकिन पता चला कि इस विमान में 27 से ज्यादा सुनने वाले यंत्र हैं। इसके बाद चीन ने यह विमान नहीं खरीदा।


ब्रिटेन


रॉयल एयर फोर्स की 32वीं स्क्वैड्रन के जिम्मे ब्रिटेन के प्रधानमंत्री और शाही परिवार की विमान यात्राएं होती हैं। इनके बेड़े में अगस्ता ए 109 हेलीकॉप्टर, बीएई-125 बिजनेस जेट और बीएई-146 रीजनल एयरलाइनर्स हैं।

ब्रिटेन की महारानी अपने पर्सनल सिकोरस्काई एस-76 हेलीकॉप्टर से सफर करती हैं। जबकि विदेश दौरों के लिए ब्रिटेन के राष्ट्राध्यक्ष ब्रिटिश एयरवेज के कॉन्कोर्ड विमान से सफर करते हैं।


फ्रांस


फ्रांस के राष्ट्रपति एयरबस ए330-200 विमान का इस्तेमाल करते हैं। यह फ्रांस का एयरफोर्स वन है। विमान की कीमत 243 मिलियन डॉलर है। कहा जाता है कि विमान में बाथटब और पिज्जा ओवन भी है।


जापान


जापान में प्रधानमंत्री और शाही परिवार के लिए दो बोइंग 747-400 विमान ज्यादातर इस्तेमाल इस्तेमाल होते हैं। इन विमानों का ऑपरेशन जापान एयर सेल्फ-डिफेंस फोर्स करती है।