छत्तीसगढ़ में किसानों ने सड़क पर फेंके टमाटर

नई दिल्ली (8 दिसंबर): नोटबंदी के बाद बाजार में आई मंदी के कारण किसानों को उनकी फसल का सही दाम नहीं मिल रहा है। इसी से नाराज होकर छत्तीसगढ़ के पत्थलगांव में किसानों ने टनों टमाटर सड़कों पर फेंक दिए हैं।

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ के जशपुर से लेकर पत्थलगांव में टमाटर की खेती सबसे ज्यादा होती है। यहां के बाजारों से तथा किसानों से झारखंड तथा ओडिशा के व्यापारी भी आकर टमाटर खरीदते हैं। इन टमाटरों के उत्पादन लागत को छोड़िए इन्हें अब घाटा सहकर 50 पैसे प्रति किलो की दर पर बेचने के लिए किसान मजबूर हैं।

इस बार टमाटर का उत्पादन अच्छा हुआ है जिससे किसान उम्मीद लगाये बैठे थे कि उन्हें मुनाफा कमाने का मौका मिलेगा, लेकिन उनकी उम्मीदों पर नोटबंदी ने पानी फेर दिया है। अब नगदी की समस्या से जूझ रहा बाजार किसी तरह की खरीददारी करने के लिये तैयार नहीं है। ना तो आसपास और ना ही झारखंड तथा ओडिशा के व्यापारी टमाटर लेने आ रहें हैं।