"कुलभूषण के खिलाफ जासूसी के सबूत नहीं पर्याप्त"

नई दिल्ली (7 दिसंबर): पाक प्रधानमंत्री के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज ने स्वीकार किया कि कथित भारतीय जासूस कुलभूषण जाधव को लेकर सरकार को 'अपर्याप्त सबूत' सौंपे गए हैं. जाधव से जुड़े डोजियर में सिर्फ इकबालिया बयान शामिल है.

समाचार चैनल 'जियो टीवी' के अनुसार उन्होंने कहा कि सरकार के पास कोई निर्णायक सबूत नहीं है. उन्होंने कहा, 'डोजियर में जो बाते हैं वे पर्याप्त नहीं हैं. अब संबंधित प्राधिकारों पर है कि वे इस एजेंट को लेकर अधिक समाग्री मुहैया कराएं.'

पाकिस्तानी एजेंसियों का दावा है कि ईरान से पाकिस्तान में दाखिल होने वाले जाधव को बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया गया और वह पाकिस्तान के भीतर 'विध्वंसक गतिविधियों' की योजना बना रहा था. पाकिस्तानी सेना ने भी जाधव के 'इकबालिया बयान वाला वीडियो' जारी कर दावा किया था कि जाधव भारतीय नौसेना से जुड़ा हुआ है.

भारत ने स्वीकार किया है कि जाधव भारतीय नौसेना से सेवानिवृत्त है, लेकिन इस आरोप से इनकार किया है कि वह सरकार के संपर्क में था.