बासित बोले- पाकिस्तान युद्ध जैसे हालात और नहीं चाहता

नई दिल्ली(9 दिसंबर): पाकिस्तान को अब भारत के साथ शांतिपूर्ण संबंधों की याद आ रही है। भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने एक कार्यक्रम में गुरुवार को कहा कि दोनों देशों के बीच कई महत्वपूर्ण मुद्दे हैं। इन मुद्दों पर बातचीत होनी चाहिए। साथ ही बासित ने यह भी कहा कि पिछले सत्त साल से स्थिति लगातार तनावपूर्ण बनी हुई हैं। उन्होंने कहा, 'पाकिस्तान लगातार युद्ध जैसी स्थिति में नहीं रहना चाहता है।'

- बासित ने कहा, 'दोनों देशों के बीच मौजूद समस्याओं से इनकार नहीं किया जा सकता है। हम इन समस्याओं को अनदेखा नहीं कर सकते। इन मुद्दों पर व्यापक बातचीत के लिए उनकी सरकार तैयार है, लेकिन इसके लिए भारत को भी तैयार होना पड़ेगा।

- भारत और पाकिस्तान के बीच रिश्तों को सुधारने की वकालत बासित ने की। उन्होंने कहा, 'अब हम वक्त के उस दौर में पहुंच गए हैं, जहां से हमें तय करना है कि या तो हम यथास्थिति को बनाए रखें। या फिर, दोनों पड़ोसी मुल्कों के बीच रिश्तों में नई शुरुआत लाने की दिशा में कुछ कदम आगे बढ़ाएं।'

- गौरतलब है कि पाकिस्तान की तरफ से लगातार सीमा पार से आतंक को बढ़ावा दिया जा रहा है। इस साल जनवरी में पठानकोट में हुए आतंकी हमले के बाद भारत की तरफ से काफी दबाव बनाया गया था। पाकिस्तान ने दोषियों पर कार्रवाई का भरोसा भी दिया, लेकिन सीमा पार से आतंकी गतिविधियां कम नहीं हुईं। बीते सितंबर में जम्मू-कश्मीर के उरी में सेना कैंप पर हुए आतंकी हमले में 19 जवान शहीद हो गए थे। जिसके बाद भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक कर पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया था।