शहीद की बेटी की शादी में 'पिता' बने शिवराज, उपहार में दिया जॉब अपॉइंटमेंट लेटर

नई दिल्ली(10 दिसंबर): भोपाल के चर्चित जेल ब्रेक कांड के दौरान सिमी आतंकियों के हमले में शहीद हुए रमाशंकर यादव की इकलौती बेटी की शादी शुक्रवार को अलग अंदाज में हुई। शादी में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने दुल्हन के पिता रमाशंकर यादव की जगह ले ली।

- उन्होंने शादी के सभी इंतजाम जैसे बरातियों के स्वागत और खाने से लेकर हर छोटी-बड़ी जिम्मेदारी को खुद निभाया।

- 30 और 31 अक्टूबर की दरम्यानी रात हुए भोपाल जेल ब्रेक में भगोड़े आतंकियों को रोकने के दौरान ड्यूटी पर तैनात रमाशंकर यादव ने अपनी शहादत दी थी।

- शहीद हुए रमाशंकर यादव की इकलौती बेटी सोनिया की शादी की जिम्मेदारी प्रदेश के सीएम शिवराज ने वादे के मुताबिक बतौर पिता निभाई।

- वहां मौजूद हर शख्स हैरान था, क्योंकि उन्हें सीएम के साथ-साथ पिता की जिम्मेदारी निभाते इससे पहले किसी ने नहीं देखा था।

- ग्वालियर जाने से पहले सीएम उस मैरिज गार्डन जा पहुंचे, जहां शादी समारोह होना तय था। गार्डन के गेट और स्टेज में कुछ कमियां नजर आईं तो सीएम ने उन्हें बेहतर करवा दिया।

- जब बरात मैरिज गार्डन पहुंची तो उन्होंने बारातियों को स्वागत किया। दूल्हे को घोड़ी से उतारा, द्वार पूजा करवाई और फिर हाथ पकड़कर स्टेज तक ले गए।

- वरमाला के दौरान भी स्टेज पर बेटी के पिता की तरह मौजूद रहे। सोनिया को भेंट स्वरूप जीएडी में असिस्टेंट ग्रेड-3 का अप्वाइंटमेंट लेटर भी दिया।

- बरातियों से घूमकर खाने के लिए कहा और कुछ कमियों को लेकर हाथ जोड़कर माफी भी मांग ली।

- बरातियों के लिए खाने का जायजा लिया और ग्वालियर के लिए रवाना हो गए। इस दौरान राज्यमंत्री विश्वास सारंग भी साथ थे।