राजद्रोह के आरोप में लेक्चरर गिरफ्तार, शहीद सैनिकों पर किया था कमेंट

नई दिल्ली ( 11 दिसंबर ): जम्मू कश्मीर में एक कॉलेज लेक्चरर को राजद्रोह के केश में गिरफ्तार किया है। उसने नगरोटा में शहीद सैनिकों पर कमेंट किया था। इस वजह से उसे कॉलेज से बर्खास्त कर दिया गया है। साथ ही उसके खिलाफ शिकायत दर्ज होने के बाद उसे हिरासत में भी ले लिया गया है। यह मामला कश्मीर के अवंतिपुरा का है। जिस प्रोफेसर पर आरोप लगा है उसका नाम शाह नवाज है। कठुआ से प्रधान सत्र न्यायाधीश ने शनिवार (10 दिसंबर) को नवाज की जमानत याचिका यह कहते हुए खारिज कर दी कि उनके सामने कुछ ऐसी बातें आई हैं जिससे लगता है कि नवाज ने ऐसी बातें की होंगी।

नवाज ने 30 नवंबर को कमेंट किया जब नगरोटा में सेना कैंप में हुए हमले में भारत के 7 जवान शहीद हो गए थे। नवाज पर आरोप है कि उसने बात कर रहे कुछ छात्रों के बीच में आकर उस मामले पर ही कमेंट किया था। जिन चार स्टूडेंट्स ने नवाज के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई है उसमें मनोज कुमार, तिलक राज, गणेश कुमार और सुभाष शामिल हैं।

उन्होंने रिपोर्ट में बताया कि नवाज ने कहा था, ‘पाकिस्तानी शेरों की तरह आते हैं, हिंदुस्तानियों को मारते हैं और वापस चले जाते हैं। कश्मीर में लगभग 150 ऐसे लोग हैं जिनके पास ऐके-47 हैं जिनके लिए मैं अपनी जान दे सकता हूं और उनकी हर संभव मदद करने को तैयार हूं।’

शिकायत में यह भी कहा गया है कि नवाज वहां पढ़ने वाले मुस्लिम बच्चों को अफगानी लिबाज में आकर भड़काने की कोशिश भी करते थे।

पुलिस ने केस रजिस्टर करके नवाज को कस्टडी में ले लिया है। इसके अलावा मामले की जानकारी राज्य के शिक्षा मंत्री नसीम अख्तर को भी दे दी गई है। उन्होंने ही नवाज को बर्खास्त करने का ऑर्डर दिया था। उप प्रभागीय न्यायाधीश अजीत सिंह का कहना है कि कॉलेज के हालात फिलहाल सामान्य हैं और क्लास भी फिर से शुरू हो गई हैं लेकिन जानकारी मिली है कि नवाज के गिरफ्तार होने के बाद से कॉलेज में धुर्वीकरण का माहौल बन रहा है।