पैसे निकालने गए दूल्हे को बैंक मैनेजर ने बनाया बंधक, पुलिस से भी कराई पिटाई

नई दिल्ली ( 10 दिसंबर ): नोटबंदी के इस दौर में शादी वाले घरों को कितनी दिक्कत हो रही हैं, यह बलिया में देखने को मिला। बलिया के सुल्तानपुर में सेंट्रल बैंक की शाखा में एक दूल्हे को घंटों बंधक बनाकर रखा गया।

नोटबंदी के बाद नोटों की किल्लत से जहां पूरा देश जूझ रहा है वहीं बलिया जिले के मनियर कस्बे के सुल्तानपुर गांव के सेन्ट्रल बैंक की शाखा में रूपये निकालने आए दूल्हे को मैनेजर ने बंधक बना लिया। दरसल दूल्हे संतोष की आज बारात निकलनी थी। इसलिए संतोष ने गांव के सेन्ट्रल बैंक की शाखा में शादी के लिए निकाले जाने वाले ढाई लाख रूपये निकालने के लिए सारी प्रक्रिया और नियमों के साथ आवेदन किया था।

मगर पैसा बैंक द्वारा नहीं दिया गया। तब सन्तोष ने मैनेजर से कहा की मुझे लिखित तौर पर दीजिये, हम आप को पैसा नहीं देंगे। इसलिए बैंक के लोगों ने उसे बंधक बना लिया और पुलिस द्वारा पीटा गया। हालांकि कई दिनों से बैंक का चक्कर काटने के बाद अपने ही शादी के दिन सन्तोष अपने ही पैसों के लिए दो घंटों तक बंधक बना रहा।

दुल्हे संतोष का आरोप है कि पुलिस भी बैंक में आने के बाद बिना कुछ पूछे पिटाई करने लगी और जबरदस्ती समझौते पर हस्ताक्षर करा ली।

एक तरफ जहां घर में बरात निकलने की तैयारी चल रही थी तो दूसरी तरफ सन्तोष शादी के खर्चों और नोट की किल्लत से बेचैन था। ऐसे में सन्तोष जैसे ही बैंक की शाखा में गया वैसे ही मैनेजर ने उसके साथ अभद्रता शुरुआत कर दी।