ट्रंप की जीत के पीछे रूस का हाथ!

वाशिंगटन (10 दिसंबर): अमेरिका में चुने गए राष्‍ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है। अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन पोस्ट ने खुफिया एजेंसी सीआईए के हवाले से छापा है कि राष्‍ट्रपति चुनावों में ट्रंप की जीत के पीछे रूस का हाथ है।

अखबार ने बताया कि पिछले दिनों खुफिया एजेंसी ने इसकी जानकारी एक सीक्रेट मीटिंग में कुछ अमेरिकी सांसदों को भी दी है। जानकारी के मुताबिक, सीआईए ने उन लोगों की भी पहचान कर ली है, जिन्होंने इलेक्शन के दौरान ट्रंप के फेवर में कई चीजें की।

रूस सरकार के संपर्क में थे मददगार...

- ये भी कहा गया की डेमोक्रेटिक नेशनल कमेटी और हिलेरी क्लिंटन कैम्पेन के कुछ ईमेल हैक किए गए और ये विकीलीक्स तक भी पहुंचे।

- सीआईए सूत्रों के मुताबिक, जिन लोगों पर ट्रम्प कैम्पेन की मदद का शक है, वो सभी इंटेलिजेंस से ताल्लुक

रखते हैं। इन लोगों ने हिलेरी के कैम्पेन को कमजोर और ट्रम्प के कैम्पेन को मजबूत करने के लिए काम किया।

- सीआईए के ऑफिशियल्स ने कुछ अमेरिकी सांसदों के साथ पिछले दिनों सीक्रेट मीटिंग की। इसमें सांसदों को

रूस के हरकतों की जानकारी दी गई।

- हालांकि सीआईए ने जो आरोप लगाए हैं, उनकी पुष्टि अमेरिका की बाकी 17 खुफिया एजेंसियों ने नहीं की है। एक अमेरिकी अफसर ने कहा कि हो सकता है इन एजेंसियों के बीच इस मामले में कुछ अलग राय हो, क्योंकि कुछ सवालों के जवाब मिलने अब भी बाकी हैं।