इस बच्ची ने पॉकेटमनी से बनवाए शौचालय

नई दिल्ली ( 11 दिसंबर ): जिस उम्र में बच्चे पॉकेटमनी मिलने के बाद खिलौने, मनपसंद कपड़े और दूसरी वस्तुएं खरीदते हैं। उस उम्र में कक्षा 6 में पढ़ने वाली मोंद्रिता चटर्जी ने सिर गर्व से ऊंचा कर देने वाला काम किया है। जमशेदपुर के हिल टॉप स्कूल में पढ़ने वाली मोंद्रिता ने अपनी पॉकेटमनी से टॉइलट बनवाने की पहल की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान से प्रेरत हो मोंद्रिता ने अब तक अपनी बचत से दो टॉइलटों का निर्माण करवा दिया है।

झारखंड के सीएम रघुबर दास ने कहा, मैं अत्यंत खुश हूं कि एक स्कूल की लड़की ने अपनी पॉकेटमनी शौचालय निर्माण में लगाई। वह हम सभी के लिए प्रेरणा है। मोंद्रिता ने बताया, 'मैं साल 2014 के अंत से अपनी पॉकेटमनी बचा रही थी। 12 महीनों में मैंने 24 हजार रुपये बचाए। इसमें से मैंने पोटका ब्लॉक में टॉइलट बनवाया।'

स्वच्छता में मोंद्रिता के योगदान को देखते हुए राज्य सरकार की तरफ से उन्हें सैनिटेशन चैम्पियन सर्टिफिकेट भी मिला है। मोंद्रिता ने आगे कहा, 'मैं ऐसा आगे भी करती रहूंगी और बाकियों को भी इस तरह की मुहिम में शामिल होने को कहूंगी।'


सीएम रघुबर दास ने लोगों से मोंद्रिता से प्रेरणा लेने को कहा। मोंद्रिता के पिता एक निजी हेल्थ केयर सेंटर में काम करते हैं। उन्होंने बताया कि मोंद्रिता साफ-सफाई को लेकर काफी सजग रहती है।