Wednesday, July 8, 2020

मध्यप्रदेश में ‘ऑपरेशन कमल’, कांग्रेस का बीजेपी पर विधायकों को होटल में बंधक बनाने का आरोप

Madhya Pradesh: मध्य प्रदेश की राजनीति में मंगलवार रात उस वक्त भूचाल आ गया जब कांग्रेस गठबंधन के 8 विधायक मानेसर के होटल पहुंच गए। कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी ने उनके इन विधायकों को होटल में बंधक बना रखा है। कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ने बीजेपी पर उनके विधायकों की खरीद-फरोख्त के भीआरोप लगाए हैं।

नई दिल्ली (4 मार्च): मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में हॉर्स ट्रेडिंग की खबरों के बीच बीजेपी (BJP) और कांग्रेस (Congress) के कई नेता दिल्ली पहुंचे हुए हैं। कांग्रेस ने बीजेपी पर विधायकों को बंधक बनाने का आरोप लगाया। इसको लेकर देर रात गुरुग्राम (Gurugram)  में अचानक से हलचल बढ़ गई। आईटीसी होटल में मध्य प्रदेश के 8 विधायकों को बंधक बनाये जाने के कांग्रेस के आरोपों के बाद मंत्री जीतू पटवारी और जयवर्धन सिंह होटल (Hotel) पहुंचे। वहां उन्होंने पुलिस पर रोके जाने का आरोप लगाया। इसको लेकर दोनों तरफ से हल्की नोकझोंक भी हुई। इसके बाद दोनों मंत्री बीएसपी की निलंबित विधायक रमाबाई के साथ बाहर निकले।  उन्होंने 8 में से 6 विधायकों के वापस आने और बाकी 2 विधायकों के भी संपर्क में होने का दावा किया। कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी उसके विधायकों को बड़ी रकम का ऑफर देकर खरीदने की कोशिश कर रही थी। जीतू पटवारी ने आज इस सिलसिले में प्रेस कॉन्फ्रेंस करने की बात कही है।

मध्य प्रदेश की राजनीति में मंगलवार रात उस वक्त भूचाल आ गया जब कांग्रेस गठबंधन के 8 विधायक मानेसर के होटल पहुंच गए। कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी ने उनके इन विधायकों को होटल में बंधक बना रखा है। कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ने बीजेपी पर उनके विधायकों की खरीद-फरोख्त के भीआरोप लगाए हैं। जानकारी के मुताबिक, चार विधायक वे हैं जो कमलनाथ सरकार को बाहर से समर्थन दे रहे हैं। जबकि इनमें से एक कांग्रेस विधायक हैं जो कि दिग्विजय खेमे के बताए जा रहे हैं।

आपको बता दें कि यह सारा मामला मंगलवार सुबह से ही चल रहे हैं जब दिग्विजयन ने आरोप लगाए थे कि उनकी पार्टी के विधायकों को बीजेपी चार्टर्ड प्लेन से दिल्ली ले जा रही है, जबकि बीजेपी ने साफ शब्दों में कहा था कि उसका इससे कोई लेना देना नहीं है और उन्होंने इसे कांग्रेस की आंतरिक कलह करार दिया था।

मध्य प्रदेश में किसके पास कितने विधायक?

मध्य प्रदेश में विधानसभा सदस्यों की कुसल संख्या 230 है। इनमें से कांग्रेस के पास 114 विधायक हैं, जबकि बीजेपी के पास 107 विधायक हैं। इसके अलावा बाकी 9 विधायकों में से बहुजन समाज पार्टी के पास 2 विधायक और समाजवादी पार्टी के पास एक विधायक हैं। इसके अलावे 4 निर्दलीय विधायक हैं, जबकि दो विधानसभा सीटें खाली हैं। दो विधायकों की मौत होने के बाद से ये सीटें खाली हैं। मध्य प्रदेश में सरकार बनाने के लिए बहुमत का आंकड़ा 116 विधायकों का है। हालांकि सूबे की सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी कुल 121 विधायकों के समर्थन का दावा कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

यू ट्यूब पर लोगों के बीच धमाल मचा रहा सपना का ये गाना, अब तक मिले इतने मिलियन व्यूज, देखें वीडियो

नई दिल्लीः हरियाणवी डांसर (Haryanvi Dancer) और सिंगर सपना चौधरी (Sapna Chaudhary) की पहचान किसी बॉलीवुड सितारे से कम नहीं है। वो जब मंच...

देशभर में फैले फर्जी बाबाओं के आश्रम-अखाड़ोंके खिलाफ कार्रवाई की मांग, सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से मांगा जवाब

प्रभाकर मिश्रा, नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली सहित देशभर में फैले फर्जी बाबाओं के आश्रमों और अखाड़ों नियंत्रण की मांग वाली जनहित याचिका...

ट्विटर ने पायल रोहतगी का अकाउंट किया सस्पेंड, एक्ट्रेस ने जताई नाराजगी

मुंबई। बॉलीवुड में इन दिनों जबरदस्त उथल-पुथल मची हुई है। ट्रोलिंग से लेकर नेपोटिज्म तक के मुद्दे पर बॉलीवुड सेलेब्स को जमकर ट्रोल किया जा...

आज गोगरा इलाके से पीछे हटेगी चीनी सेना, भारत-चीन में हुआ ये समझौता

मनीष कुमार, नई दिल्‍ली: गलवान हिंसा के बाद तनाव को कम करने के लिए भारत और चीन के अधिकारियों की तीन बार बैठक हुई।...