Monday, April 6, 2020

कोरोना का कहर: देश में संक्रमितों की संख्या पहुंची 700 के करीब, देखें किस राज्य में कितने मरीज

Coronavirus: भारत में लॉकडाउन के बाद भी कोरोना वायरस के मामले तेजी से सामने आ रहे हैं। देश में कोरोना के कुल मामलों की संख्या 694 हो गई है। इसमें से 42 लोग ठीक हो गए हैं। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक भारत में कोरोना वायरस से 16 लोगों की मौत हो गई है। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार बुधवार शाम तक देश में कोरोना वायरस के 88 नए मामले दर्ज किए गए हैं। जो कि एक दिन में सबसे ज्यादा हैं।

नई दिल्ली: कोरोना वायरस (Coronavirus) यानी कोविड 19 (Covid 19) से भारत समेत दुनियाभर में हाहाकार मचा है। जानलेवा कोरोना का भारत समेत दुनियाभर के 195 से ज्यादा देशों में बदस्तूर कहर जारी है। कोरोना के जानलेवा वायरस की चपेट में आने से दुनियाभर में अबतक 23,000 से ज्यादा लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। जबकि 5 लाख से लोग संक्रमित हैं।

 

भारत भी में कोरोन पीड़ितों की संख्या धीरे-धीरे बढ़ती ही जा रही है। भारत में कोरोना पीड़ितों का आंकड़ा 700 के करीब पहुंच गया है। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार बुधवार शाम तक देश में कोरोना वायरस के 88 नए मामले दर्ज किए गए हैं। जो कि एक दिन में सबसे ज्यादा हैं। बुधवार को तीन COVID-19 संक्रमित मरीजों की मौत हुई। मामले की गंभीरता को  देखते हुए आईसीएमआर ने देशभर में 35 निजी लैब को कोविड 19 परीक्षण के लिए मंजूरी दी।

भारत में अब तक कुल 694 लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं। इनमें से 45 मरीजों का सफलता पूर्वक इलाज हो चुका है और वो स्वस्थ्य होकर अपने-अपने घरों को जा चुके हैं। वहीं कोरोना संक्रमण की वजह से देश में अबतक 16 लोगों की मौत हो चुकी है।

कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र है। वहां सबसे ज्यादा मरीज पाए गए हैं। महाराष्ट्र में संक्रमित लोगों का आंकड़ा 130 तक पहुंच गया है। मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमितों की कुल संख्या 27 हो गई है।ओडिशा में संक्रमितों की कुल संख्या तीन हो गई है। सभी मामले भुवनेश्वर से हैं।आंध्र प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 11 हो गई है। संक्रमित  व्यक्ति स्वीडन की यात्रा करके लौटे हैं।

इस बीच स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि पॉजिटिव मामलों में वृद्धि की दर भारत में ‘अपेक्षाकृत स्थिर’ है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि अभी तक यह कहने के लिए कोई पुख्ता साक्ष्य नहीं है कि भारत में कोरोना वायरस संक्रमण का प्रसार समुदाय के स्तर पर हो रहा है।

हालांकि भारत के लिए बेहद चिंता की बात है कि देश में कोरोना के संक्रमण का दायरा लगातार बढ़ता जा रहा है। उस पर रोक लगती नहीं दिख रही है। कोरोना से पीड़ितों की संख्या  लगातार बढ़ती जा रही है।

कोरोना का कोई पुख्ता इलाज नहीं होने से बचाव का फिलहाल सोशल डिस्टेंसिंग ही सबसे बेहतर इलाज है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 21 दिन के लॉकआउट की घोषणा के बाद तमाम राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में पुलिस प्रशासन सख्त और मश्तैद नजर आ रहा है। वहीं अब लोग भी धीरे-धीरे घरों में रहने के आदी होते जा रहे हैं। ऐसी स्थिति में वायरस की चेन ब्रेक हो जाए यही उम्मीद सभी को है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

आने वाले समय में और भी सस्‍ता होगा पेट्रोल-डीजल, ये है कारण

नई दिल्‍ली: कच्‍चे तेल के दामों में एक बार फिर कमी देखने को मिली है। पिछले सप्ताह अंतर्राष्ट्ररीय बाजार में कच्चे तेल के दाम...

कोरोना पॉजिटिव तबलीगी जमाती ने डॉक्‍टर पर थूका

नई दिल्‍ली: कुछ लोगों का कहना है कि तबलीगी जमात के लोगों को बदनाम किया जा रहा है। लेकिन जिस तरह की खबर तबलीगी...

पाकिस्‍तान में कोरोना मचाएगा ऐसा हाहाकार, हो जाएंगा बर्बाद

नई दिल्‍ली: पाकिस्तान में अप्रैल महीने के आखिरी हफ्ते तक पाकिस्तान में कोरोना वायरस पीड़ितों की संख्या पचास हजार तक पहुंच सकती है। एक...

इसलिए इंडियन क्रिकेटर एसोसिएशन पर बुरी तरह भड़क गए सुनील गावस्कर

कोरोना वायरस की वजह से सभी खिलाड़ी लॉकडाउन में रहने को मजबूर हैं। इसी वजह से कोई भी स्पोर्टिंग इवेंट नहीं हो रहा है।...