गृह मंत्री ने जरूरी सामानों की कमी नहीं होने का दिया भरोसा, घरों से बाहर ना निकलें लोग

नई दिल्ली: कोरोना चीन से शुरू हुआ लेकिन धीरे-धीरे इसने अबतक दुनिया के 195 देशों से ज्यादा देशों को अपनी चपेट में ले लिया है। जबकि दुनियाभर के 50 देशों में स्थिति खतरनाक हो चुकी है। भारत समेत दुनिया के 35 देश पूरी तरह से लॉकडाउन है। दुनियाभर में तबाही मचा देने वाले कोरोना वायरस को रोकने के लिए भारत ने निर्णायक लड़ाई शुरू कर दी है। भारत में कोरोना वायरस से प्रभावित लोगों की तादाद 536 तक पहुंच गई है। वहीं देश में कोरोना से मरने वाले लोगों की संख्या 10 हो गई है। अच्छी बात ये है कि देश में अबतक 40 कोरोना पीड़ित मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को देश को संबोधित किया और कड़ा फैसला लेते हुए 21 दिनों के लॉकडाउन का ऐलान कर दिया। इस दौरान किसी को भी घर से बाहर ना निकलने की अपील की गई है, हालांकि जरूरत के सामान की दुकानें खुली रहेंगी। पीएम मोदी के ऐलान के बाद से ही राशन की दुकानों पर भीड़ दिखी, लेकिन गृह मंत्रालय ने आश्वासन दिया है कि पैनिक करने की जरूरत नहीं है।

कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने को लेकर पीएम मोदी ने इस दौरान लोगों से घर से बाहर नहीं निकलने की अपील की है। हालांकि इस दौरान जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी। लिहाजा आप घबराएं नहीं, जरुरत का हर सामान मिलेगा। संपूर्ण लॉकडाउन आपको हमको और हिंदुस्तान को बचाने के लिए है। पीएम मोदी ने खुद कहा है कि लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि जरूरी सेवाएं और दवाएं मिलती रहेंगी। गृह मंत्रालय ने भी इसके लेकर एक गाइडलाइन जारी की है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जैसे ही लॉकडाउन का ऐलान किया, तो देर रात को ही लोग बाजारों में भागने लगे। राशन की दुकानों पर भीड़ लगने लगी, लेकिन गृह मंत्रालय ने अपनी एडवाइज़री में जानकारी दी कि लोग पैनिक बाइंग ना करें क्योंकि जरूरत की दुकानें खुली रहेंगी।

ये सुविधाएं खुली रहेंगी

  • सब्जी, राशन, दवा, फल की दुकानें खुली रहेंगी.- बैंक, इंश्योरेंस दफ्तर और एटीएम खुले रहेंगे
  • प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया
  • इंटरनेट, ब्रॉडकास्ट और केबल सर्विस जारी रहेगी
  • ई-कॉमर्स के जरिए दवा, मेडिकल उपरकरण की डिलवरी जारी रहेगी
  • पेट्रोल पंप, एलपीजी पंप, गैस रिटेल खुले रहेंगे
  • प्राइवेट सिक्टोरिटी सर्विस भी मिलती रहेगी
  • अस्पताल, डिस्पेंसरी, क्लीनिक, नर्सिंग होम खुले रहेंगे।

संपूर्ण लॉकडाउन पर केंद्र सरकार ने गाइडलाइन जारी की है। जिसके मुताबिक सभी जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी। अस्पताल, मेडिकल स्टोर, बैंक खुले रहेंगे। राशन, सब्जियां, दूध की दुकानें खुली रहेंगी। इसलिए हम बार-बार कह रहे हैं कि आपको घबराने की जरूरत नहीं हैं। जरुरत का हर सामान मिलेगा। संपूर्ण लॉकडाउन आपको, हमको और हिंदुस्तान को बचाने के लिए है। बस आप 21 दिन तक घर में रहकर महासंक्रमण से बचने में मदद कीजिए।

कोरोना के लेकर गृह मंत्रालय के साथ-साथ उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग ने भी एडवाइजरी जारी है। जिसमें बताया गया है कि खाद्य सामान फैक्ट्रियों को बंद नहीं किया जाएगा। फैक्ट्रियों में साफ सफाई का खास ध्यान रखने की हिदायत दी गई है। ज़रुरत के सामान वाली दुकानें भी खुली रहेंगी। जिससे अफरा-तफरी का माहौल न पैदा हो। सभी परचून की दुकान, फार्मेसी और मैन्यूफैक्चरिंग यूनिट में काम करने वाले कर्मचारी काम करते रहेंगे। जिससे लोगों के पास उनकी ज़रूरत का सामान पहुंचता रहा है। वहीं ज़रूरी सामान का कच्चा माल लाने वाले ट्रकों या फिर दूसरे वाहनों की आवाजाही जारी रहेगी।

आपको बता दें कि दुनियाभर में कोरोना वायरस (कोविड-19) संक्रमित लोगों की मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। दुनिया में अब तक कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़कर 18 हाजार के पार चली गई हैं। वहीं पीड़ितों के मामले बढ़कर 41 लाख 6,066 तक पहुंत गए हैं। भारत में कोरोना वायरस से प्रभावित लोगों की तादाद 536 तक पहुंच गई है। वहीं देश में कोरोना से मरने वाले लोगों की संख्या 10 हो गई है। अच्छी बात ये है कि देश में अबतक 40 कोरोना पीड़ित मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं।

गौरतलब है कि भारत में कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र में सामने आये हैं। यहां 107 लोग कोरोना पॉजीटिव पाये गए हैं। जिसमें से 3 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है। महाराष्ट्र के बाद केरल में सबसे ज्यादा 95 मरीज पाये गये हैं। जिसमें से 3 लोग ठीक होकर अब अपने परिवार के साथ रह रहे हैं। जबकि यूपी, कर्नाटक और गुजरात में 30 से ऊपर मामले हो चुके हैं। दिल्ली में एक और मौत हुई है, लेकिन राहत की बात ये है कि यहां फिलहाल एक भी नया मामला सामने नहीं आया है। और खास बात ये है कि 28 में से 5 लोग ठीक हो चुके हैं। आपको बता दें कि कोराना संक्रमण के मामले अब तक सबसे ज्यादा मुंबई से ही सामने आए हैं।

वहीं बिहार में कोरोना के एक और मरीज की पुष्टि हो गई है। नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती मरीज का टेस्ट पॉजिटिव आया है। इसके साथ ही राज्य में कोरोना संक्रमितों की तादाद बढ़कर 4 हो गई है। अबतक एनएमसीएच में 2 और पटना एम्स में 2 पॉजिटिव मरीज पाये गये हैं।

Share