Aaj Ka Mausam: बर्फीली हवाओं के कारण यहां बढ़ेगी ठंड तो आज इन राज्यों में होगी आफत की बारिश

Aaj Ka Mausam: देश के मौसम में तेजी से बदलाव हो रहा है। पहाड़ों से चल रही बर्फीली हवाओं के कारण मैदानी इलाकों में भी पारा लुढ़कने लगा है।

Aaj Ka Mausam: पहाड़ी राज्यों में हो रहे हिमपात और बारिश के कारण मैदानी इलाकों में तेजी से पारा गिरने लगा है। दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे उत्तर और मध्य भारत में सुबह-शाम के साथ-साथ रात में लोगों को ठिठुरन महसूस होने लगी है। तमाम जगहों पर तापमान में गिरावट दर्ज जा रही है। कई जगहों पर सुबह के समय धुंध भी छाने लगी है। जिससे यातायात में मुश्किल हो रही है। इस बीच मौसम विभाग की मानें तो अगले कुछ दिनों में कई इलाकों में तापमान में अचानाक गिरावट दर्ज की जा सकती है।

इस बीच मौसम विभाग ने आज भी पहाड़ी इलाकों में हिमपात के साथ-साथ बारिश की संभावना जताई है। एमआईडी के अनुसार आज भी गिलगित-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, लद्दाख, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के पहाड़ों पर बर्फबारी के साथ वर्षा के आसार हैं। गौरतलब है कि हिमायल के पहाड़ी इलाकों में पिछले कई दिनों से जारी छिटपुट बर्फबारी और बारिश जारी है जिसके कारण पूरे इलाके में तापमान के में बड़ी गिरावट दर्ज की गई है। कई इलाकों में पारा गिरकर शून्य के पार यानी माइनस में पहुंच गया है। लिहाजा इन इलाकों में लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

इसके साथ ही पहाड़ों पर हो रहे बर्फबारी का असर मैदानी इलाकों में भी दिखने लगा है। मैदानी राज्यों में ठंड बढ़ने लगी है। दिल्ली-एनसीआर, उत्तर, मध्य भारत समेत देश के कई हिस्सों में तापमान में लगातार कमी देखी जा रही है । IMD के अनुसार पर्वतीय क्षेत्रों से आ रही सर्द हवाओं के कारण पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, दिल्ली समेत कई राज्यों में ठंड बढ़ी है और आने वाले दिनों में सर्दी के और बढ़ने की पूरी संभावना है।

मौसम विभाग के अनुसार अगले एक सप्ताह के दौरान दिल्ली-एनसीआर में न्यूनतम तापमान 8 डिग्री सेल्सिसय के आसपास रहेगा। इस दौरान रात के समय ठंड में और इजाफा होगा, जबकि दिन में तेज धूप निकलने के कारण लोगों को ठंड से राहत मिलती रहेगा। साथ ही एमआईडी का कहना है कि दिल्ली-एनसीआर में दिसंबर के मध्य तक शीतलहर का आगमन हो सकता है। इसके साथ ही इस साल ठंड अपने कई रिकॉर्ड तोड़ सकता है।

मौसम में आए बदलाव का कारण दक्षिण भारत में बना साइक्लोनिक सर्कुलेशन है। दक्षिण के कई हिस्से में अगले कुछ दिनों तक बारिश की संभावना जताई गई है। बंगाल की खाड़ी से उस ओर जानेवाले बादल हिमालय से आनेवाली बर्फीली हवाओं में घुल गए हैं। समुद्री बादलों के ठंडी हवाओं से मिलने से तापमान में बढ़ोतरी हुई है।

- विज्ञापन -

दक्षिण के कई राज्यों में अभी भी बारिश का दौर जारी है। इसी कड़ी में मौसम विभाग ने आज भी तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, केरल, पुडुचेरी, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह समेत कई जगहों पर बारिश का संभावना जताया है।

मौसम विभाग के मुताबिक उत्तरी अंडमान सागर के ऊपर एक ताजा चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र उभरने की संभावना है। इससे आसपास के इलाके के मौसम में बदलाव आएगा। साथ ही एमआईडी का कहना है कि अगले चार से पांच दिनों में ओडिशा के न्यूनतम तापमान में तीन से पांच डिग्री तक की कमी आएगी।

निजी मौसम पूर्वानुमान एजेंसी स्काईमेट वेदर (Skymet Weather) के मुताबिक तमिलनाडु, तटीय कर्नाटक, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, केरल, लक्षद्वीप, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश के आसार हैं।
वहीं देश के बाकी हिस्सों में मौसम शुष्क बना रहेगा। जबकि गंगा के मैदानी इलाकों में सुबह और शाम के समय धुंध की संभावना है।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version