PM CARES Fund: रतन टाटा को पीएम केयर फंड का बनाया गया ट्रस्टी, जानें और कौन-कौन शामिल

प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक बयान में कहा कि पीएम मोदी ने पीएम केयर्स फंड का अभिन्न अंग बनने के लिए ट्रस्टियों का स्वागत किया है।

नई दिल्ली: एमेरिटस और टाटा संस के चेयरमैन चेयरमैन रतन टाटा, सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जस्टिस केटी थॉमस और लोकसभा के पूर्व डिप्टी स्पीकर करिया मुंडा को पीएम केयर्स फंड का ट्रस्टी बनाया गया है। वहीं, देश के कुछ अन्य हस्तियों को सलाहकार समूह में नामित किया गया है।

अभी पढ़ें रूला गए कानपुर के ‘गजोधर भैया’, PM Modi ने दी श्रद्धांजलि

बता दें कि एक दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बोर्ड ऑफ ट्रस्टी की बैठक हुई थी। बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ नव नियुक्त सदस्यों ने भाग लिया। प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक बयान में कहा कि पीएम मोदी ने पीएम केयर्स फंड का अभिन्न अंग बनने के लिए ट्रस्टियों का स्वागत किया है।

इन्हें बनाया गया ट्रस्टी और सलाहकार

पीएम केयर्स फंड में बतौर ट्रस्टी सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस केटी थॉमस, पूर्व डिप्टी स्पीकर करिया मुंडा और उद्योगपति रतन टाटा को शामिल किया गया है। वहीं, एडवाइजरी बोर्ड में पूर्व कैग राजीव महर्षि, इन्फोसिस फाउंडेशन की पूर्व चेयरपर्सन सुधा मूर्ति, इंडिकॉर्प्स और पिरामल फाउंडेशन के पूर्व सीईओ आनंद शाह को नामित किया गया है।

अभी पढ़ें अगले तीन दिनों तक इन राज्यों में होगी भारी बारिश, जानें- मौसम विभाग की भविष्यवाणी

क्या है पीएम केयर्स फंड

बता दें कि प्रधानमंत्री नागरिक सहायता और आपात स्थिति राहत कोष (PM CARES Fund) का ट्रस्ट रजिस्ट्रेशन 27 मार्च, 2020 को नई दिल्ली में रजिस्ट्रेशन एक्ट1908 के तहत कराया गया है। PM CARES फंड को 2020 में फैली कोरोना महामारी के दौरान आपातकालीन राहत उपायों के हिस्से के रूप में बनाया गया था। प्रधानमंत्री इसके अध्यक्ष हैं और इसमें दिया गया डोनेशन आयकर से पूरी तरह मुक्त है।

अभी पढ़ें –  देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version