Mann Ki Baat: PM मोदी ने ‘मन की बात’ के जरिए देशवासियों किया संबोधित, हरिप्रसाद का भी जिक्र

Mann Ki Baat: पीएम मोदी ने आज 'मन की बात' कार्यक्रम के जरिए देशावियों से बात की। इस दौरान उन्होंने कहा कि ड्रोन के क्षेत्र में भी भारत तेजी से आगे बढ़ रहा है।

Mann Ki Baat: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सुबह 11 बजे आकाशवाणी पर अपने मासिक कार्यक्रम ‘मन की बात’ कार्यक्रम के जरिए देशवासियों को संबोधित किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम का आज 95 एपिसोड था।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी हर महीने के अंतिम रविवार को ‘मन की बात’ कार्यक्रम के जरिए देशवासियों तक अपनी बात पहुंचाते हैं। अपने संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने भारत को बताया लोकतंत्र की जननी बताते हुए कहा कि देश की उभरती शक्ति की ओर पूरा विश्व उम्मीदों से देख रहा है।

पीएम मोदी की बड़ी बातें…

  • हम बहुत तेजी से मन की बात के शतक की तरफ बढ़ रहे हैं। ये कार्यक्रम मेरे लिए 130 करोड़ देशवासियों से जुड़ने का माध्यम है।
  • साथियों आज के कार्यक्रम की शुरुआत मैं एक अनूठे उपहार की चर्चा के साथ करना चाहता हूं। तेलंगाना के राजन्ना सिर्सिल्ला जिले में एक बुनकर भाई हैं- येल्धी हरिप्रसाद गारू। उन्होंने मुझे अपने हाथों से G-20 का यह लोगो बुन करके भेजा है। ये शानदार उपहार देखकर मैं हैरान रह गया।
  • हरिप्रसाद जी ने जी-20 के लोगो के साथ ही मुझे चिट्ठी भेजी है। इसमें उन्होंने लिखा है कि अगले साल इस सम्मेलन की मेजबानी करना भारत के लिए गौरव की बात है। देश की इस उपलब्धि की खुशी में उन्होंने लोगो अपने हाथों से तैयार किया है। बुनाई की ये प्रतिभा उन्हें अपने पिता से विरासत में मिली है।
  • कुछ दिन पहले ही मुझे G-20 लोगो और भारत की Presidency की वेबसाइट लॉन्च करने का सौभाग्य मिला। इस लोगो का चुनाव एक सार्वजनिक प्रतियोगिता के जरिए हुआ था। जब मुझे हरिप्रसाद गारू द्वारा भेजा गया ये उपहार मिला, तो मेरे मन में एक और विचार उठा। तेलंगाना के किसी जिले में बैठा व्यक्ति भी G-20 जैसी समिट से खुद को कितना जुड़ाव महसूस कर सकता है, ये देखकर मुझे बहुत अच्छा लगा।
  • आज हरिप्रसाद गारू जैसे अनेकों लोगों ने मुझे चिट्ठी भेजकर ये लिखा है कि देश को इतने बड़े समिट की मेजबानी मिलने से उनका सीना चौड़ा हो गया है।
  • जी 20 की दुनिया की आबादी में दो-तिहाई, विश्व व्यापार में तीन-चौथाई, और विश्व जीडीपी में 85% भागीदारी है। आप कल्पना कर सकते हैं- भारत अब से 3 दिन बाद यानी 1 दिसंबर से इतने बड़े समूह की इतने सामर्थ्यवान समूह की अध्यक्षता करने जा रहा है।
  • भारत के लिए, हर भारतवासी के लिए, ये कितना बड़ा अवसर आया है। ये इसलिए भी विेशेष हो जाता है, क्योंकि ये जिम्मेदारी भारत को आजादी के अमृतकाल में मिली है।
  • जी G20 की अध्यक्षता, हमारे लिए एक बड़ा अवसर बनकर आया है। हमें इस मौके का पूरा उपयोग करते हुए विश्व कल्याण पर फोकस करना है।

आपको बता दें कि महीने के अंतिम रविवार को पीएम मोदी मन की बात के जरिए देश को संबोधित करते हैं। कार्यक्रम का प्रसारण आकाशवाणी और दूरदर्शन के पूरे नेटवर्क, आकाशवाणी समाचार की वेबसाइट और न्यूजएयर मोबाइल एप पर किया जाता है। इसका सीधा प्रसारण डीडी न्यूज, पीएमओ और सूचना और प्रसारण मंत्रालय के यूट्यूब चैनलों पर भी किया जाता है।

आज मन की बात का 95वां संस्करण है। पीएम मोदी इस कार्यक्रम में विभिन्न विषयों को लेकर लोगों से बात करते हैं। इस कार्यक्रम के लिए आम जनता अपने विचार और सुझाव भी शेयर करती है। पीएम इनमें से कुछ को चुनकर अपने कार्यक्रम में शामिल करते हैं।

आपको बता दें कि मोदी ने 2014 में सत्ता में आने के बाद, इस कार्यक्रम की शुरुआत की थी, जिसमें वह विभिन्न मुद्दों पर देश के लोगों से बात करते हैं। कार्यक्रम आमतौर पर महीने के आखिरी रविवार को प्रसारित किया जाता है। इसकी पहली कड़ी अक्टूबर 2014 में प्रसारित हुई थी और यह 2019 में एक संक्षिप्त अवधि को छोड़कर, जब प्रधानमंत्री ने लोकसभा चुनाव के दौरान इसे रोक दिया था, निर्बाध रूप से चल रहा है।

- विज्ञापन -

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version