Thursday, July 9, 2020

यूपी के बाद बिहार में भी बड़ी तादाद में मरे चमगादड़, लोगों में दहशत

कोरोना वायरस के खौफ के बीच देश के कई हिस्सों में चमगादड़ों की मौत ने लोगों के मन में डर को बढ़ा दिया है। यूपी के गोरखपुर के बाद बिहार से भी बड़ी संख्या में चमगादड़ों के मरने की खबर आई है। बिहार के भोजपुर में अचानक 200 से ज्यादा चमगादड़ों की मौत हो गई।

नई दिल्‍ली: कोरोना वायरस के खौफ के बीच देश के कई हिस्सों में चमगादड़ों की मौत ने लोगों के मन में डर को बढ़ा दिया है। यूपी के गोरखपुर के बाद बिहार से भी बड़ी संख्या में चमगादड़ों के मरने की खबर आई है। बिहार के भोजपुर में अचानक 200 से ज्यादा चमगादड़ों की मौत हो गई।

गोरखपुर के पास एक गांव में सैकड़ों चमगाड़ों की मौत के रहस्य से पर्दा हटा भी नहीं था कि बिहार में भी बड़ी संख्या में चमगादड़ों के मरने की खबर आई है। बिहार के भोजपुर जिले के तरारी गांव में अचानक दो सौ से ज्यादा चमगादड़ों के मरने से पूरे इलाके में दहशत फैल गया है। तरारी गांव के एक बगीचे में अचानक लोगों ने जब 200 से ज्यादा मरे हुए चमगादड़ों को देखा तो डर का माहौल बन गया। लोगों के बीच तरह-तरह की चर्चाएं हो रही है। गांव के लोगों में दहशत है, जितनी मुंह उतनी बातें।

जब ग्रामीणों की नज़र इन मरे हुए चमगादड़ों पर पड़ी तो इलाके में सनसनी फैल गई। लोगों ने इसकी सूचना स्थानीय प्रशासन को दी। खबर मिलते ही जिला प्रशासन भी हरकत में आ गया। आनन-फानन में जांच टीम को गांव भेजा गया। टीम ने मरे हुए चमगादड़ों के स्वाब सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिया है। मरे हुए चमगादड़ों को एक गड्ढे में ब्लीचिंग पाउडर डालकर दफना दिया गया है। वहीं इस घटना से इलाके में दहशह का माहौल है। लोगों को डर है कि चमगादड़ों की मौत कहीं किसी वायरस की वजह से तो नहीं हुई है। वन विभाग और डॉक्टरों की टीम छानबीन कर चमगादड़ों की मौत का रहस्य पता करने में जुट गई है।

यूपी के गोरखपुर में भी हुए थी ऐसी ही घटना
इससे पहले चमगादड़ों के मरने की घटना गोरखपुर के पास खजनी रेंज के बेलघाट गांव से आई थीं। लोगों ने कहा कि उन्हें डर है कि कहीं किसी वायरस की वजह से तो चमगादड़ों की मौत नहीं हुई। लोगों को ये डर भी सता रहा है कि चमगादड़ों के मरने के बाद कहीं कोई वायरस न फैल जाए। चमगादड़ों की मौत कैसे हुई ये कोई नहीं बता पा रहा है। माना जा रहा है कि तेज धूप और गर्मी से चमगादड़ों की मौत हुई है। फिलहाल चमगादड़ों के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए बरेली भेज दिया गया है। गांव में जिस बगीचे में चमगादड़ों की मौत हुई है, उसके आसपास तालाब और पानी के सारे श्रोत सूखे हुए हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि चमगादड़ों प्यास की वजह से ही दम तोड़ा हो। लेकिन चमगादड़ों की मौत की असली वजह पोस्टमॉर्टम के बाद ही सामने आएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 7 लाख 67 हजार के पार, अबतक 21000 से ज्यादा लोगों की जा चुकी है जान

नई दिल्ली: चीनी वायरस कोरोना (Coronavirus) यानी कोविड 19 (Covid 19) के संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए देश में 24 मार्च से...

BIG BREAKING: विकास दुबे उज्‍जैन में गिरफ्तार

नई दिल्‍ली: कानुपर के बिकरू गांव से 8 पुलिसकर्मियों की हत्‍या के बार फरार विकास दुबे को उज्‍जैन में गिरफ्तार कर लिया गया है।...

रेलवे में निजीकरण के आरोप पर बचाव में आये रेल मंत्री, कहा- इससे रोजगार के मौके और यात्री सुविधा बढ़ेगी

कुन्दन सिंह, नई दिल्ली: रेल मंत्रालय के द्वारा 109 रूट्स पर 151 प्राइवेट ट्रेन चलाए के निर्णय से उठे निजीकरण के सवाल के जवाब...

एक दूल्हे ने दो दुल्हनों से की शादी, दोनों हैं प्रेमिका

बैतूल: बैतुल जिले की घोडाडोंगरी ब्लॉक में केरिया गांव में युवक ने एक मंडप में अपनी दो प्रेमिकाओं के साथ सात फेरे लिये। इस...