TrendingUnion Budget 2024Success StoryAaj Ka RashifalAaj Ka MausamBigg Boss OTT 3

---विज्ञापन---

कुवैत अग्निकांड: मौत से एक दिन पहले की बच्चों से बात, यूपी के 3 लोग नहीं देख पाए अगली सुबह

Kuwait Fire News: कुवैत अग्निकांड में 45 भारतीयों की मौत हो गई। जिसमें गोरखपुर के रहने वाले अंगद गुप्ता का भी नाम शामिल है। अंगद की मौत के बाद परिवार को गहरा झटका लगा है। अंगद को याद करते हुए परिजनों ने आखिरी फोन कॉल का जिक्र किया है।

Edited By : Sakshi Pandey | Updated: Jun 14, 2024 14:36
Share :

Kuwait Fire News: कुवैत अग्निकांड में 49 लोगों की जान चली गई। मरने वालों में 45 भारतीय भी शामिल थे। सभी के शवों को आज कुवैत से केरल के कोच्चि लाया गया है। इस अग्निकांड में उत्तर प्रदेश के तीन लोगों की भी मौत हो गई है। जिनमें एक नाम गोरखपुर के रहने वाले अंगद गुप्ता का भी मौजूद है। अंगद की अकसमात मौत से परिवार में शोक की लहर दौड़ पड़ी है। साथ ही उनकी पत्नी और तीनों बच्चे भी सदमें में हैं।

परिजनों को लगा झटका

अंगद की मौत के बाद परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। परिवारवालों के अनुसार मंगलवार को उन्होंने घर पर बात की थी। वहीं फोन कटने के कुछ घंटे बाद ही उनकी मौत की खबर सामने आई और सभी के होश उड़ गए। परिजनों ने एंबेसी में फोन करके मामले की जानकारी मांगी तो जवाब सुनकर सबके पैरों तले से जमीन खिसक गई।

9 साल से कुवैत में थे अंगद

बता दें कि अंगद गुप्ता 9 साल पहले काम की तलाश में कुवैत गए थे। अंगद एक प्राइवेट कंपनी कैशियर के पद पर कार्यरत थे। उनके रहने की व्यवस्था कुवैत के मंगाफ शहर में बनी बहुमंजिला इमारत में की गई थी। इस इमारत में कुल 45 भारतीय मूल के लोग रहते थे। सभी की इस हादसे में जान चली गई।

सुबह 4 बजे लगी आग

परिजनों ने बताया कि बिल्डिंग में आग लगने से कुछ घंटे पहले ही उन्होंने घर पर फोन कॉल की थी। इस दौरान अंगद ने ना सिर्फ सभी का हालचाल पूछा बल्कि बच्चों को मन लगाकर अच्छे से पढ़ाई करने की सलाह दी। अगली सुबह 4 बजे करीब अंगद की बिल्डिंग में आग लगी और उन्होंने हमेशा के लिए इस दुनिया को अलविदा कह दिया।

अंगद के भाई का छलका दर्द

अंगद के छोटे भाई पंकज गुप्ता ने बताया कि परिवार में कमाने वाले सिर्फ भैया ही थे। उनके जाने के बाद अब आय का श्रोत भी खत्म हो गया है। अंगद का परिवार आर्थिक संकट से जूझ रहा है। ऐसे में पंकज ने सरकार से आर्थिक सहायता करने की मांग की है। साथ उन्होंने अंगद की बड़ी बेटी अंशिका गुप्ता को सरकारी नौकरी देने की सिफारिश की है।

हादसे में 45 भारतीयों की मौत

इस घटना में अंगद के अलावा गोरखपुर के रहने वाले जयराम गुप्ता भी थे। वहीं यूपी के तीसरे मृतक का ताल्लुक गाजीपुर से था। बता दें कि इस हादसे में शामिल सबसे ज्यादा भारतीय केरल के रहने वाले थे। इस अग्निकांड में केरल के 24, तमिलनाडु के 5, बिहार के 2 और झारखंड के 1 व्यक्ति की जान गई है।

सीएम योगी ने दिया आदेश

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी अपने आला अधिकारियों को विदेश मंत्रालय के संपर्क में बने रहने की सलाह दी है। सीएम योगी ने अधिकारियों को कुवैत में मौजूद भारतीय दूतावास से भी जानकारी लेने के आदेश दिए हैं।

First published on: Jun 14, 2024 02:35 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें
Exit mobile version