TrendingRajkot Firelok sabha election 2024IPL 2024Char Dham YatraUP Lok Sabha Election

---विज्ञापन---

कर्नाटक विधानसभा में मंदिर टैक्स विधेयक पास, भाजपा बोली- मस्जिदों को क्यों छोड़ा

What Is Karnataka Temple Tax Bill : कर्नाटक में मंदिर टैक्स विधेयक 2024 को लेकर राजनीतिक घमासान मचा हुआ है। इस बिल को लेकर राज्य में भाजपा और कांग्रेस आमने-सामने आ गई। बीजेपी ने कांग्रेस पर हिंदू विरोधी नीति अपनाने का आरोप लगाया तो कांग्रेस ने भी पलटवार किया है।

Edited By : Deepak Pandey | Updated: Feb 22, 2024 20:31
Share :
कर्नाटक विधानसभा में मंदिर टैक्स बिल पास।

What Is Karnataka Temple Tax Bill : कर्नाटक में अब मंदिरों से भी टैक्स वसूला जाएगा, इसे लेकर राज्य सरकार हिंदू धार्मिक संस्थान और धर्मार्थ बंदोबस्ती विधेयक 2024 लेकर आई है। विधानसभा में यह बिल पास हो गया है, जिसे लेकर भारतीय जनता पार्टी ने सिद्धारमैया सरकार निशाना साधा है। भाजपा ने कहा कि अगर मंदिरों पर टैक्स लगा तो मस्जिदों और गिरजाघरों को क्यों छोड़ा गया।

सनातन विरोधी है कर्नाटक सरकार

भाजपा प्रवक्ता सत्येंद्र जैन ने मंदिर टैक्स मामले को लेकर कहा कि कर्नाटक सरकार सनातन विरोधी है। अगर मंदिरों से टैक्स वसूला जाएगा तो मस्जिदों को क्यों छोड़ा गया। गिरजाघर से भी टैक्स वसूली का प्रावधान क्यों नहीं है। कर्नाटक सरकार नेहरू कांग्रेस की राह पर चल रही है। कांग्रेस ने ही हिंदू कोड बिल लागू किया था। हिंदू, जैन समेत मूर्ति पूजा करने वाले धर्म के खिलाफ षड्यंत्र किया था। मंदिरों पर टैक्स लगाना सनातन का अपमान है।

मंदिरों से कितना वसूला जाएगा टैक्स

हिंदू धार्मिक संस्थान और धर्मार्थ बंदोबस्ती विधेयक के तहत मंदिरों पर टैक्स लगेगा। जिन मंदिरों का राजस्व एक करोड़ रुपये से अधिक है, उनसे राजस्व का 10 प्रतिशत टैक्स लिया जाएगा। जिन मंदिरों में 10 लाख रुपये लेकर एक करोड़ रुपये तक दान आते हैं, उनसे पांच फीसदी टैक्स वसूला जाएगा।

यह भी पढ़ें : कौन हैं पूर्व मंत्री केएस ईश्वरप्पा, जिन्होंने दिया मस्जिदें खाली कर देने वाला बयान

सरकार ने क्यों लगाया टैक्स

कर्नाटक सरकार का दावा है कि धार्मिक परिषद के उद्देश्य के लिए धन एकत्रित किया जा रहा है। मंदिरों के टैक्स से मिलने वाले पैसे पुजारियों और उनके बच्चों की शिक्षा पर खर्च किए जाएंगे। जो मंदिर जर्जर हो चुके हैं या खराब हैं, उन्हें दुरुस्त कराए जाएंगे। सरकार ने कहा कि इस विधेयक के तहत सिर्फ बड़े मंदिरों को ही टैक्स देना होगा।

भाजपा ने कांग्रेस सरकार पर साधा निशाना

कर्नाटक भाजपा के अध्यक्ष विजयेंद्र येदियुरप्पा ने इस विधेयक को लेकर कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि यह विधेयक हिंदू विरोधी है। कांग्रेस सरकार हिंदू विरोधी नीतियां अपना रही है। ये सारा काम खजाना भरने के लिए किया जा रहा है। मंदिरों से टैक्स वसूलने के बाद सरकार दूसरे उद्देश्यों में पैसे खर्च करेगी। उन्होंने कहा कि सिर्फ हिंदू मंदिरों से ही टैक्स वसूलने का फैसला क्यों लिया गया, अन्य धर्मों को क्यों छोड़ दिया गया।

यह भी पढ़ें : क्यों कर रहे हैं बेंगलुरु में लोग विरोध-प्रदर्शन? कई मॉल और होटल में लगे पोस्टर फाड़े, समझिए पूरा मामला

कांग्रेस ने किया पलटवार

कर्नाटक के मंत्री रामलिंगा रेड्डी ने भाजपा पर पलटवार किया है। उन्होंने भाजपा पर धर्म की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि हिंदुत्व की सच्ची समर्थक कांग्रेस ही है, क्योंकि कांग्रेस सरकारों ने सालों से हिंदू के हितों और मंदिरों की रक्षा की है। कांग्रेस को हिंदू विरोधी बताकर भाजपा राजनीतिक लाभ लेती है।

First published on: Feb 22, 2024 07:54 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें
Exit mobile version