Wednesday, July 8, 2020

भारत ने फिर दुनिया को चौंकाया, मात्र 500 रुपये में होगा कोरोना टेस्‍ट, आधे घंटे में आएगा रिजल्‍ट

देश में करीब 69 दिन के लॉकडाउन के बाद अनलॉक-1 जारी किया गया है। हालांकि अब देश में कोरोना के मामलों में तेजी देखी जा रही है। दो दिनों से कोरोना के संक्रमित मरीजों की तादाद 8 हजार के पार पहुंच गई है। ऐसे में देशवासियों के लिए एक राहत की खबर लखनऊ के संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान (पीजीआई) से आई है।

नई दिल्‍ली: देश में करीब 69 दिन के लॉकडाउन के बाद अनलॉक-1 जारी किया गया है। हालांकि अब देश में कोरोना के मामलों में तेजी देखी जा रही है। दो दिनों से कोरोना के संक्रमित मरीजों की तादाद 8 हजार के पार पहुंच गई है। ऐसे में देशवासियों के लिए एक राहत की खबर लखनऊ के संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान (पीजीआई) से आई है।

देश में अभी तक कोरोना के टेस्‍ट के लिए लोगों को करीब 4500 रुपये खर्च करने पड़ते थे और रिजल्‍ट के लिए करीब 24 घंटे का इंतजार करना पड़ता था। लेकिन लखनऊ के संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान (पीजीआइ) ने कोविड-19 जांच की सस्ती किट तैयार की है। यह तकनीकी आरएनए आधारित है, इसे सीधे मरीज के जांच के नमूने पर इस्तेमाल नहीं किया जाता है। मरीज के नमूने में से आरएनए निकालकर उसमें ही संक्रमण देखा जाता है। इस किट से तीस मिनट में जांच की जा सकेगी और खर्च भी पांच सौ रुपए के करीब आएगा।

इस किट के पेटेंट के लिए संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान (पीजीआई) की तरफ से आवेदन किया है। पेटेंट के बाद किट की वैधता की जांच के लिए इंडियन काउंसिल फार मेडिकल रिसर्च (आइसीएमआर) को भेजा जाएगा, जिसके बाद ही यह किट लोगों तक पहुंच सकेगी। अभी तक संक्रमण का पता लगाने के लिए नाक और गले से स्वाब लिया जाता है। कालम तकनीकी से स्वाब सेल से आरएनए निकाला जाता है, जिसमें पंद्रह मिनट लगते हैं। इसी आरएनए के संक्रमण की जांच किट से की जाती है, जिसमें समय भी काफी कम लगता है।

इजरायल की टेस्टिंग किट एक मिनट में बताएगी नतीजा
इससे पहले इजरायल ने एक ऐसी किट बनाई गई है, जो लक्षण वाले मरीज़ और बिना लक्षण वाले मरीज़ों का कोरोना टेस्ट सिर्फ़ एक फूंक में कर सकती है। इतना ही नहीं, इस टेस्टिंग किट से सिर्फ़ एक मिनट में कोरोना पॉज़िटिव मरीज़ की रिपोर्ट आ जाती है। इज़रायल की रिसर्च टीम का कहना है कि उनकी टेस्ट किट की कीमत दूसरे पीसीआर टेस्ट से काफ़ी कम है। ये टेस्ट कहीं भी किए जा सकते हैं और इसके लिए लैब की भी ज़रूरत नहीं है। इज़रायल की कोरोना टेस्ट किट अगर सटीक नतीजे देती है, तो ये एयरपोर्ट, बॉर्डर एरिया, स्टेडियम जैसी जगहों के लिए बहुत मददगार साबित हो सकती है। इन जगहों पर तत्‍काल रिज़ल्‍ट के ज़रिए कोरोना संक्रमित लोगों की पहचान करके उन्हें बाकी लोगों से अलग किया जा सकता है। फिलहाल कोरोना टेस्ट किट को लेकर फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन से मंज़ूरी लेने की प्रक्रिया चल रही है। अगर, ये किट कारगर रही, तो बहुत कम समय में दुनिया में रिकॉर्ड संख्या में टेस्ट हो सकेंगे और संक्रमण को फैलने से रोकने में मदद मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

कोरोना के बाद इंडिया से बाहर इंडिया का अद्भुत कारनामा, चीन और पाकिस्तान कर रहे स्यापा

नई दिल्ली। यूरोपियन यूनियन हो या फिर यूनाईटेड नेशंस हर तरफ भारत का बोलवाला है। अमेरिका, ब्रिटेन हो फिर रूस हर कोई भारत से...

नेपाल में उठा सियासी तूफान, चालबाज चीन ने राष्ट्रपति भवन को भी जाल में फंसाया

नई दिल्ली। चालबाज चीन ने नेपाल के राष्ट्रपति भवन को भी अपने जाल में फंसा लिया है। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग चाहते हैं...

सपना चौधरी ने इस गाने पर डांस से जीता फैंस का दिल, पागल हो गए लोग, देखें वीडियो

नई दिल्लीः हरियाणवी सिंगर (Haryanvi Dancer) और डांसर सपना चौधरी (Sapna Chaudhary) की पहचान किसी बॉलीवुड सिलेब्स से कम नहीं है। वो जब मंच...

लॉकडाउन में बुक कराए गये टिकटों का रिफंड नहीं दे रहीं एयरलाइंस, सुप्रीम कोर्ट ने जारी किया नोटिस

नई दिल्ली। कोरोना लॉकडाउन के दौरान बुक किए गये हवाई टिकटों की वापसी में एयर लाइन हीलाहवाली कर रही हैं। यात्रियों पर जबरन क्रेडिट...