सीमा पर चीन की नई चाल का भारतीय वायुसेना ने दिया करारा जवाब

नई दिल्‍ली: india and china army scuffle latest news:

दुनिया में कोरोना फैलाकर चीन की नापाक हरतक दुनिया के सामने आने लगी हैं। एक तरफ उसने साउथ चाइना सी में अपनी गश्‍त बढ़ा दी है तो दूसरी तरफ उसने भारत से सटी सीमा में भी अपने सैनिकों की संख्‍या में इजाफा करना शुरू कर दिया है। मिली जानकारी के अनुसार, लद्दाख में वास्तविक सैन्य नियंत्रण रेखा (LAC) पर चीन के हेलीकॉप्‍टर को उड़ता देख भारतीय वायु सेना ने भी अपने लड़ाकू विमानों को रवाना किया।

अमेरिका समेत दुनिया के कई चीन पर कोरोना को फैलाने का आरोप लगा रहे हैं तो ऐसे में चीन अवैध रूप से कब्‍जा करने में लगा हुआ है। साउथ चाइना सी में उसको रोकने के लिए अमेरिका ने अपने जंगी जहाज उतार दिए हैं तो वह युद्ध की तैयारी में जुट गया है। हालांकि चीन के अंदर ही उसको चेतावनी देते हुए कुछ विषेशज्ञों ने अमेरिका से नहीं भिड़ने की सलाह दी है। जिसके बाद चीन ने भारत की तरफ रुख किया है। बताया जा रहा है कि ऐसा करके चीन कोरोना से दुनिया का ध्‍यान हटाना चा‍हता है ताकि उसपर लगे आरोपों पर ज्‍यादा बात ना हो।

सूत्रों ने बताया कि नॉर्थ सिक्‍कम में भारतीय सेना से पीटने के बाद चीन अपनी नापाक हरकतों को अंजाम देने में लगा गया है। उसने पिछले सप्ताह वास्तविक सैन्य नियंत्रण रेखा (LAC) पर लड़ाकू विमानों को तैनात किया है। यहीं नहीं इन विमानों ने वास्तविक सैन्य नियंत्रण रेखा (LAC) के पास उड़ान भरी, हालांकि उसको जवाब देने के लिए भारतीय वायु सेना (IAF) ने भी अपने लड़ाकू विमान भेजे। सूत्रों ने बताया, “जैसे ही चीनी हेलीकॉप्टरों की आवाजाही शुरू हुई, भारतीय लड़ाकू विमानों को लद्दाख सेक्टर में सीमावर्ती क्षेत्रों में ले जाया गया।” सूत्रों ने कहा कि चीनी हेलिकॉप्टरों ने भारतीय हवाई क्षेत्र का उल्लंघन नहीं किया। हालांकि यह कई वर्षों में पहली बार है, जब भारत ने लड़ाकू विमानों को तैनात करके हवाई सीमा के उल्लंघन करने के चीनी प्रयासों का करारा जवाब दिया है।

पिछले हफ्ते, भारत और चीन की सेना पूर्वी लद्दाख में दो बार आमने-सामने आई। पहली घटना में, भारतीय और चीनी सेना के जवान 5 मई को पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग झील के उत्तरी किनारे पर आपस में टकराए। हालांकि दोनों पक्षों के बीच बातचीत के बाद अगले दिन सुबह टकराव की समाप्ति हुई। सूत्रों ने कहा कि दोनों पक्षों के सैनिकों ने मामूली चोटें आई, क्योंकि यहां पर दोनों सेनाओं के बीच पथराव और धक्‍का-मुक्‍की हुई। इस टकराव के समय में करीब 200 सेना के जवान मौजूद थे।

एक अन्य घटना में, लगभग 150 भारतीय और चीनी सैन्यकर्मी चीन-भारत सीमा के सिक्किम सेक्टर में नकु ला दर्रा के पास आमने-सामने आए, जिसमें कम से कम 10 सैनिक घायल हो गए थे। बता दें कि भारत-चीन सीमा विवाद 3,488 किलोमीटर लंबी, वास्तविक नियंत्रण रेखा को लेकर है।

Share