महंगाई पर वित्त मंत्री बोलीं- किसी राज्य ने आपत्ति नहीं की, केरल और झारखंड में पहले से टैक्स

आगे वित्तमंत्री ने कहा कि हम महंगाई को नकार नहीं रहे। कीमतें बढ़ी हैं इससे कोई इन्कार नहीं है। कई राज्यों में पहले से टैक्स है।

नई दिल्ली: राज्यसभा में मंगलवार को महंगाई पर दूसरे दिन विपक्ष के सवालों का जवाब देते हुए केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आक्रमक नजर आई। उन्होंने कहा जीएसटी परिषद में हर राज्य के सदस्य और मंत्री होते हैं। इसमें वह अकेले नहीं होते हैं वह जीएसटी परिषद में अपने अधिकारियों के साथ बैठते हैं। उन्होंने कहा काउंसिल की पिछली 47 वीं बैठक चंडीगढ़ में हुई। यहां सभी राज्यों ने प्रस्ताव पर सहमति जताई। किसी राज्य की भी असहमति नहीं थी।

 

आगे वित्तमंत्री ने कहा कि हम महंगाई को नकार नहीं रहे। कीमतें बढ़ी हैं इससे कोई इन्कार नहीं है। कई राज्यों में पहले से टैक्स है। जैसे केरल में आटा, मैदा सूजी पर 5 फीसदी का टैक्स है। इसी तरह झारखंड में दाल, गेंहू व पनीर पर 5 फीसदी का टैक्स है। लेकिन भारतीय अर्थव्यवस्था दूसरे बड़े देशों से बेहतर है। जब वित्त मंत्री बोल रहीं थी तो टीएमसी सांसदों ने सदन से वॉकआउट कर दिया और चले गए।

पहले यह कहा 

इससे पहले सोमवार को उन्हाेंने कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था दूसरे देशों से बेहतर है। भारत में मंदी का कोई सवाल नहीं है। वह बोलीं विपरित हालतों में भी भारत की अर्थव्यवस्था आगे बढ़ रही। उन्होंने कहा कि हम समस्याओं पर काम कर रहें हैं। देश में जीएसटी कलेक्शन के आंकड़ें लगातार बढ़ रहें हैं। देश में जीएसटी कलेक्शन के आंकड़ें लगातार बढ़ रहें हैं। वित्त मंत्री लोकसभा में बोलीं पिछले छह माह में जीएसटी 1.4 लाख करोड़ से ज्यादा रही है। आगे उन्होंने बताया कि अमेरिका में जीडीपी केवल 0.9 फीसदी है। वहीं, चीन में चार हजार बैंक दिवालिया हो गए हैं।

 

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version