Tuesday, June 2, 2020

Coronavirus: लॉकडाउन के कारण अब प्रभावित नहीं होगी बच्चों की पढ़ाई

Coronavirus: कोविड 19 (Covid 19) के कारण जारी लॉकडाउन (Lockdown) के बीच केंद्रीय मान व संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने  देश में ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली को अधिक उत्कृष्ट बनाने के लिए भारत पढ़े ऑनलाइन अभियान की शुरुआत की।

कुन्दन सिंह, नई दिल्ली: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (Coronavirus) यानी कोविड 19 (Covid 19) संक्रमण से देश में जारी लॉकडाउन (Lockdown) के बीच केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने  देश में ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली को अधिक उत्कृष्ट बनाने के लिए भारत पढ़े ऑनलाइन अभियान की शुरुआत की।

इस अभियान का उद्देश्य भारत में डिजिटल शिक्षा के लिए उपलब्ध प्लेटफार्म को और बढ़ावा देना तथा देशभर के बुद्धिमान लोगों से इसको और उत्कृष्ट बनाने और इसमें आने वाली बाधाओं को दूर करने के लिए सुझाव लेना भी शामिल है।

इस मौके पर मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने  बताया की “इस अभियान के तहत स्कूल में अथवा उच्च शिक्षा ग्रहण कर रहे छात्रों को जोड़ा जायेगा क्योंकि  सबसे ज्यादा विभिन्न विषयों को पढ़ाने वाले डिजिटल शिक्षा प्लेटफॉर्मों से लगातार जुड़े रहते हैं।  इन प्लेटफॉर्मों में क्या कमी है और इनको कैसे दूर किया जा सकता है इसको लेकर बच्चें खुद भी सुझाव दे सकते हैं। इन सुझावों पर उनका खुद का मंत्रालय अमल करेगा।

“इसके अलावा शिक्षकों को भी इस अभियान से जोड़ा जायेगा ताकि वो आगे आकर अपने अनुभव एवं विशेषज्ञता द्वारा ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली को और बेहतर बनाने अपना योगदान दें. शिक्षकों के साथ संवाद कर के उनसे इस बारे में सुझाव लिए जायेंगे कि भारत में ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली किस तरह की होनी चाहिए. इसके अलावा उनसे यह भी सुझाव लिए जायेंगे कि अभी इसमें क्या क्या कमियां है और पारम्परिक क्लासरूम की पढाई में उन्हें क्या क्या कठिनाई आती है जिसको वो ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली द्वारा दूर कर सकते हैं।

इस सभी सुझावों को सोशल मीडिया के प्लेटफार्म जैसे ट्वीटर, फेसबुक एवं इंस्टाग्राम पर साझा कर सकते हैं इसके अलावा मानव संसाधन विकास मंत्रालय की वेबसाइट पर भी साझा कर सकते हैं।

इस अभियान के पहले चरण में सभी सुझाव ट्विटर और मायगव वेबसाइट के द्वारा लिए जायेंगे उसके बाद दूसरे चरण में टॉप 10 सुझाव देने वालों को मंत्रालय की तरफ से या तो ईमेल जायेगा या उनके ट्विटर अकाउंट पर मैसेज भेजा जायेगा जिसमें उनको एक गूगल फॉर्म दिया जायेगा जिसमें उन्हें अपने सुझावों को विस्तार से ब्यौरा देंगे।

इस अभियान को सफल बनाने के लिए सोशल मीडिया की एक टीम, एनसीईआरटी के प्रोफेसर, एनसीईआरटी के प्रोफेसरों, मायगव की टीम और मंत्रालय के साथ मिलकर काम करने वाले युवाओं और मंत्रालय के अधिकारीयों को लगाया जायेगा।

यह अभियान आज से ही शुरू हो जायेगा.। आज से लेकर 16 अप्रैल 2020 तक इस अभियान का पहला चरण चलेगा जिसके बाद 18 अप्रैल 2020 को पहले चरण के विजेताओं के नाम बताये जायेंगे. 19 से लेकर 24 अप्रैल तक दूसरा चरण चलेगा और 28 अप्रैल को विजेताओं के नाम बताये जायेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

महाराष्ट्र और गुजरात पर बढ़ा चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ का खतरा, NDRF की कई टीमें तैनात

नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच देश पर एक नया खतरा मंडरा रहा है। बंगाल और ओडिशा में चक्रवाती तूफान अम्फान की तबाही के...

क्या भारत के नाम से हट जाएगा ‘इंडिया’? सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

प्रभाकर मिश्रा, नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट आज उस याचिका पर सुनवाई करेगा जिसमें मांग की गई है कि संविधान संसोधन करके इंडिया शब्द हटा...

Aaj ka Rashifal 2 June 2020:  इन राशि वालों को आज रहना होगा सावधान वरना बिगड़ सकते हैं काम, जानें अपना राशिफल

Aaj ka Rashifal 2 June 2020: आज दिनांक 2 जून 2020 और दिन मंगलवार (Mangalwar ka Rashifal) है। आज का दिन सभी 12 राशियों...

‘CHAMPIONS’ से मजबूत होंगे छोटे उद्योग, रोजगार की लग जायेगी झड़ी!

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की मीटिंग में 20 लाख करोड़ के पैकेज और लोकल के लिए वोकल अभियान...