Thursday, July 9, 2020

कोरोना ने छीना रोजगार, डिग्री वाले भी मजदूरी करने को मजबूर

कोरोना काल में लोगों की रोटी-रोजगार सब छिन गया तो लोग अपने गांव लौट आए। लेकिन भूख कहां पीछे छोड़ने वाली थी। ऐसे में नौकरी नहीं तो मजदूरी का रास्ता चुन लिया। राजस्थान के हर गांव में आपको बड़ी-बड़ी डिग्री वाले मनरेगा के तहत मजदूरी करते मिल जाएंगे, क्योंकि लॉकडाउन में डिग्री नहीं मनरेगा काम आ रहा है।

केजे श्रीवत्‍सन, जयपुर: कोरोना काल में लोगों की रोटी-रोजगार सब छिन गया तो लोग अपने गांव लौट आए। लेकिन भूख कहां पीछे छोड़ने वाली थी। ऐसे में नौकरी नहीं तो मजदूरी का रास्ता चुन लिया। राजस्थान के हर गांव में आपको बड़ी-बड़ी डिग्री वाले मनरेगा के तहत मजदूरी करते मिल जाएंगे, क्योंकि लॉकडाउन में डिग्री नहीं मनरेगा काम आ रहा है।

रामवतार सिंह राव को बीए-एमएड जैसी ऊंची डिग्री मिलने के बाद भी जब सरकारी नौकरी नहीं मिली तो जयपुर के एक प्राइवेट स्कूल में पढ़ाने लगे, वो भी ठीक-ठाक तनख्वाह पर। लेकिन, लॉकडाउन में पिछले दो महीने से स्कूल-कॉलेज बंद हैं। पता नहीं आगे कब खुलेंगे ? स्कूल ने रामवतार को सैलरी देने से मना कर दिया। ऐसे में रामवतार ने गांव वापस लौटने का फैसला किया और ग्रामीण इलाकों में चल रहे मनरेगा में काम के लिए फावड़ा और तगाड़ी लेकर पहुंच गए।

रामवतार की तरह ही सीमा वर्मा और सुमन वर्मा समेत कई महिलाओं ने भी ऊंची पढ़ाई की है। लेकिन पहली बार मनरेगा के तहत काम के लिए घर से बाहर निकली हैं। जिससे कोरोना काल में घर गृहस्थी की गाड़ी आगे बढ़ाई जा सके। जयपुर से 50 किलोमीटर दूर आसलपुर गांव में मनरेगा योजना के तहत काम चल रहा है। मनरेगा में ग्रामीण बेरोजगारों को रोजगार की गारंटी दी जाती है। ऐसी ही तस्वीर राजस्थान के दूसरे हिस्सों में भी दिख रही है।

कोरोना काल में मनरेगा बड़े पैमाने पर ग्रामीम इलाकों में मजदूरों को रोजगार मुहैया करवा रहा है। आंकड़े के मुताबिक, 15 अप्रैल तक राजस्थान में मनरेगा में श्रमिकों की संख्या सिर्फ 60 हजार थी। लेकिन 21 मई तक ये संख्या साढ़े 36 लाख के आंकड़े को पार कर गयी। कोरोना वायरस को देखते हुए कार्यस्थल पर सोशल डिस्टेंसिंग और मजदूरों के बार-बार हाथ धोने जैसी बातों का भी ध्यान रखा जा रहा है।

मनरेगा में दूसरे प्रदेशों से आने वाले प्रवासी राजस्थानी मजदूरों को भी उनके गांवों में रोजगार दिया जा रहा है। लॉकडाउन में ग्रामीण इलाकों में मनरेगा खाली हाथ लोगों के लिए बड़ी मददगार साबित हो रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

आज फिर कोरना ने तोड़ा रिकॉर्ड, एक दिन में सबसे ज्यादा 24,879 नए केस हुए दर्ज, देखिए राज्यों का हाल

नई दिल्ली: कोरोना का कहर देश में लगातार जारी है। देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या थमने का नाम नहीं ले रहा है। हर...

विकास दुबे गिरफ्तार, जांच में सही निकला CO देवेंद्र मिश्र का पत्र

नई दिल्‍ली: एक नाटकीय घटनाक्रम के बाद करीब 6 दिन के बाद 8 पुलिसकर्मियों की हत्‍या करने वाले विकास दुबे को उज्‍जैन के महाकाल...

Good News: मिल गया Corona का Killer, अब हवा में ही हो जाएगा कोरोना वायरस का खात्मा

नई दिल्ली। जैसे ही डब्लूएचओ ने इस बात को माना कि कुछ खास परिस्थितियों में कोरोना वायरस हवा के माध्यम से भी फैल सकता...

देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 7 लाख 67 हजार के पार, अबतक 21000 से ज्यादा लोगों की जा चुकी है जान

नई दिल्ली: चीनी वायरस कोरोना (Coronavirus) यानी कोविड 19 (Covid 19) के संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए देश में 24 मार्च से...