लॉकडाउन जारी रहेगा या नहीं, जानिए मंत्रिसमूह की बैठक में क्‍या हुआ फैसला ?

नई दिल्‍ली:

देशवासियों को अब उस खबर का सबसे ज्‍यादा इंतजार हैं, जिसमें केंद्र सरकार की तरफ से यह साफ किया जाएगा कि 14 अप्रैल के बाद लॉकडाउन खत्‍म होगा या नहीं। हालांकि आज भी केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह के आवास पर मंत्रिसमूह की एक बैठक हुई थी, जिसमें कोरोना वायरस के खिलाफ केंद्र सरकार द्वारा उठाए जाने वाले कदमों व योजनाओं को तय किया गया। लेकिन सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, इस बैठक में लॉकडाउन पर कोई निर्णायक बात नहीं हो पाई।

सूत्रों का कहना है कि बैठक में 14 अप्रैल को लॉकडाउन को समाप्त करने या इसे और आगे बढ़ाने के बारे में कोई फैसला नहीं हो पाया। इस बैठक में सरकार के सामने सबसे बड़ा सवाल दो बड़ी चीजों को लेकर सामने आया है। इसमें आजीविका का नुकसान बनाम जीवन का नुकसान शामिल है।

बताया जा रहा है कि लॉकडाउन के इस संबंध में कोई भी निर्णय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सदन के नेताओं और मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के बाद ही लिया जाएगा, जहां इस मुद्दे पर चर्चा की जानी है। सूत्रों के अनुसार, बैठक में आवश्यक आपूर्ति और विशेष रूप से कोरोना हॉटस्पॉटों की उपलब्धता और सुगमता पर चर्चा की गई।

बैठक में गृहमंत्री अमित शाह, सूचना एवं प्रसार मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल, वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण, उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान सहित अन्य लोग शामिल रहे।
मंत्रिसमूह (जीओएम) ने कोरोना प्रकोप के मद्देनजर एक वर्ष के लिए सांसदों के वेतन को कम करने और दो वर्षों के लिए एमपीएलएडीएस को निलंबित करने के निर्णय का स्वागत किया।

राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर कहा, “मंत्रियों ने अपनी अंतर्²ष्टि साझा की कि कैसे हम स्थिति पर काबू पा सकते हैं और लोगों को कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में प्रेरित, ²ढ़ और सतर्क रहने में मदद कर सकते हैं।”

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट के अनुसार, भारत में कोरोना संक्रमण से अब तक 114 लोगों की मौत हो चुकी है। 30 जनवरी को देश में पहला मामला सामने आने के बाद से कुल 325 लोग ठीक हो चुके हैं।

Share