Thursday, July 9, 2020

गर्लफ्रैंड के लिए रची हत्या की साजिश, मरा समझकर यमुना नदी में फेंका

गर्लफ्रेंड को दोस्त ने परेशान किया तो बॉयफ्रेंड ने रच दी हत्या की साजिश। जी हां, राजधानी दिल्ली के सनलाइट कॉलोनी थाने के अंतर्गत एक हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है, जहां एक युवक को दो युवकों ने मरा समझकर यमुना नदी में फेंक दिया और मौके से फरार हो गए।

राहुल प्रकाश, नई दिल्‍ली: गर्लफ्रेंड को दोस्त ने परेशान किया तो बॉयफ्रेंड ने रच दी हत्या की साजिश। जी हां, राजधानी दिल्ली के सनलाइट कॉलोनी थाने के अंतर्गत एक हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है, जहां एक युवक को दो युवकों ने मरा समझकर यमुना नदी में फेंक दिया और मौके से फरार हो गए।

दरअसल, सनलाइट थाना पुलिस को लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल से एक कॉल मिली, जिसमें यह बताया है कि एक व्यक्ति जोकि अनकॉन्शियस हालत में है, उसके गले पर निशान है। उसको यहां लाया गया है। यह बताया गया कि महिला सब इस्पेक्टर रेखा और कॉन्स्टेबल केपी सिंह जो 4 बजे के आसपास किसी मामले के लिए न्यू अशोक नगर थाने की तरफ दिल्ली से डीएनडी होते हुए जा रहे थे। उसी दौरान दो युवकों को यमुना नदी कुछ फेंकते हुए भागता देखा। पुलिसवालों ने उनको ऐसे भागते हुए देख उनका पीछा भी किया, लेकिन वो गाड़ी तेज़ी से लेकर निकल गए। हालांकि उनकी गाड़ी का नंबर नोट कर लिया गया, लेकिन जब वह वापस यमुना नदी में पहुंचे तो देखा एक युवक गोविंद पांडेय नकॉन्शियस हालत में जिंदा था, उसे निकाला गया और अस्पताल भेजा गया, जहां उसका इलाज चल रहा है।

मामले की संजीदगी को देखते हुए एसीपी लाजपत नगर अतुल कुमार के नेतृत्‍व में टीम को तैयार किया गया। जिस गाड़ी का नंबर पुलिस को मिला, उस गाड़ी के नंबर को चेंज करने के बाद यह साफ हुआ गाड़ी कैथल हरियाणा में रीना नाम की महिला के नाम रजिस्ट्रेड है। पुलिस की टीम कैथल गई, जहां से मालिक की पूरी जानकारी जुटाई गई। वहां से यह साफ हुआ कि मयूर विहार फेस 3 में सुमित के पास कार है।

पुलिस ने तमाम सर्विलांस और लोकल इंटेलिजेंस की मदद से इलाके से सुमित और मोहित को गिरफ्तार किया, जहां उन्होंने इस एटेम्पट टू मर्डर की साजिश के बारे में बताया। उन्‍होंने कहा कि वह गोविंद की हत्या करना चाहते थे। पुलिस को उन्होंने पूछताछ में बताया कि सुमित की गर्लफ्रेंड को गोविंद पांडेय काफी परेशान ओर ब्लैकमेल करता था, जिसको लेकर उसका बदला लेना चाहता था। उसने अपने साथी मोहित को इसके लिए ₹15000 दिए थे कि दोनों मिलकर उसकी हत्या करेंगे। यही नहीं ये गोविंद पांडेय को अपने साथ ही कार में यमुना ब्रिज के पास लाए, उसके बाद गोविंद पांडेय का गला दबाया। उनको लगा कि यह मर गया तो उठाकर फेंक दिया और वहां से भाग गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

BIG BREAKING: विकास दुबे उज्‍जैन में गिरफ्तार

नई दिल्‍ली: कानुपर के बिकरू गांव से 8 पुलिसकर्मियों की हत्‍या के बार फरार विकास दुबे को उज्‍जैन में गिरफ्तार कर लिया गया है।...

रेलवे में निजीकरण के आरोप पर बचाव में आये रेल मंत्री, कहा- इससे रोजगार के मौके और यात्री सुविधा बढ़ेगी

कुन्दन सिंह, नई दिल्ली: रेल मंत्रालय के द्वारा 109 रूट्स पर 151 प्राइवेट ट्रेन चलाए के निर्णय से उठे निजीकरण के सवाल के जवाब...

एक दूल्हे ने दो दुल्हनों से की शादी, दोनों हैं प्रेमिका

बैतूल: बैतुल जिले की घोडाडोंगरी ब्लॉक में केरिया गांव में युवक ने एक मंडप में अपनी दो प्रेमिकाओं के साथ सात फेरे लिये। इस...

विकास दुबे का सहयोगी प्रभात एनकाउंटर में ढेर, कल फरीदाबाद से किया था गिरफ्तार

नई दिल्‍ली: विकास दुबे यूपी पुलिस की गिरफ्त से अभी भी फरार है, लेकिन पुलिस उसके सहयोगी प्रभात को एनकाउंटर में मार गिराया है।...