News24 Hindi

‘वर्ल्ड फार्मासिस्ट डे’ 2023: जानें इस दिन का महत्व और फार्मासिस्ट का अहम रोल

Pharmacist Day

World Pharmacist Day 2023: हर साल 25 सितंबर को दुनिया भर में विश्व फार्मासिस्ट डे मनाया जाता है। ये पहल विश्व फार्मासिस्ट दिवस इंटरनेशनल फार्मास्युटिकल फेडरेशन (एफआईपी) ने की थी, जिसे साल 2000 में इस्तांबुल में एक सम्मेलन में मान्यता दी गई थी। इस दिन को मनाने का उद्देश्य फार्मेसियों पर ध्यान केंद्रित करना है। इसके अलावा हर कोने-कोने में स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर करने की कोशिश है।

इतिहास

विश्व फार्मासिस्ट दिवस की शुरुआत 2009 में हुई थी। इस्तांबुल, तुर्की में फार्मेसी और फार्मास्युटिकल साइंस की विश्व कांग्रेस में एफआईपी के द्वारा बनाया गया था। 25 सितंबर का दिन इसलिए चुना गया क्योंकि इसी दिन 1912 में FIP की स्थापना हुई थी। इस दिन को मनाने का मकसद है स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में फार्मासिस्टों की भूमिका को प्रोत्साहित करना है।

एक फार्मासिस्ट लोगों की सेहत को ध्यान में रखते हुए अपने सभी काम करता है, जिसमें दवा की पहचान, उसकी रीस्टॉकिंग, एक्सपायरी डेट आदि शामिल है, ताकि किसी के भी स्वास्थ्य पर कोई बुरा असर न हो। इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए एफआईपी ने सभी फार्मासिस्टों के सम्मान में इस दिन को मनाने का समर्थन किया।

थीम

हर साल जब भी इस दिन को मनाया जाता है तो एक थीम के साथ होती है। इस बार वर्ल्ड फार्मासिस्ट डे की थीम है फार्मेसी इज स्ट्रेंथनिंग हेल्थ सिस्टम (Pharmacy strengthening health systems) है।

25 सितंबर को ही क्यों मनाते हैं?

अंतर्राष्ट्रीय फार्मास्युटिकल फेडरेशन (FIP) के सदस्यों ने इस तारीख को सुझाया, क्योंकि इसी तारीख पर एफआईपी (FIP) की 1912 में स्थापना हुई थी।

इसका उद्देश्य क्या है?

विश्व फार्मासिस्ट दिवस मनाने का मकसद है दुनिया भर के फार्मेसिस्टों को उनके द्वारा दिए गए योगदानों को सम्मान देना है और इसके साथ ही फार्मेसी के पेशे को बढ़ावा देना है।

Disclaimer: इस लेख में बताई गई जानकारी और सुझाव को पाठक अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। News24 की ओर से किसी जानकारी और सूचना को लेकर कोई दावा नहीं किया जा रहा है।

Exit mobile version