TrendingNavratri 2024lok sabha election 2024IPL 2024UP Lok Sabha ElectionNews24PrimeBihar Lok Sabha Election

---विज्ञापन---

Testicular Cancer की चपेट में सबसे ज्यादा आ रहे हैं 15 से 35 साल के युवा, जानें लक्षण

Testicular Cancer Risk In Young Men: 40-45 साल की उम्र में पुरुषों को टेस्टिकुलर कैंसर (अंडकोष के कैंसर) का जोखिम ज्यादा रहता है। टेस्टिकुलर कैंसर के मामले कम ही होते हैं, लेकिन क्या है ये टेस्टिकुलर कैंसर और इसके शुरुआती लक्षण कैसे दिखते हैं, जानिए इसके बारे में सबकुछ।  

Edited By : Deepti Sharma | Updated: Mar 2, 2024 13:27
Share :
टेस्टिकुलर कैंसर Image Credit: Freepik

Testicular Cancer Risk In Young Men: कैंसर की बीमारी बहुत घातक होती है और जिसे होती है, उसका जीवन अंधकारमय बन जाता है। आपने कई तरह के कैंसर के बारे में तो सुना ही होगा, लेकिन आपने कभी टेस्टिकुलर कैंसर के बारे में सुना है, नहीं न! तो चलिए आपको बताते हैं कि क्या है ये टेस्टिकुलर कैंसर की बीमारी, जिससे 40-45 साल के पुरुषों को ज्यादा खतरा रहता है। टेस्टिकुलर कैंसर पुरुषों के अंडकोष (Testicles) में होने वाले कैंसर को बोलते हैं।

इस बात को सभी अच्छे से जानते हैं कि एक पुरुष के लिए टेस्टिस यानी अंडकोष कितना महत्वपूर्ण होता है, क्योंकि यही अंडकोष पुरुषों में सेक्शुअल हार्मोन बनाता है और स्पर्म का प्रोडक्शन भी करता है। इसका मतलब है कि अगर पुरुषों के अंडकोष में कोई समस्या आती है, तो उसकी सेक्शुअल लाइफ पर इसका बुरा असर पड़ता है, जिन लोगों के अंडकोष का साइज एब्नॉर्मल होता है, उन पुरुषों में अंडकोष के कैंसर का खतरा ज्यादा पाया जाता है। ये कैंसर अनहेल्दी फूड, खराब जीवनशैली, स्मोकिंग, शराब का सेवन करने से इस कैंसर का खतरा युवाओं में ज्यादा देखने को मिलता है।

टेस्टिकुलर कैंसर क्या है?

टेस्टिकुलर कैंसर तब होता है जब अंडकोष में असामान्य सेल्स डिवाइड होने लगती हैं और अनकंट्रोल्ड होकर बढ़ने लगती हैं। अंडकोष पुरुष रिप्रोडक्टिव सिस्टम का हिस्सा है।

किन लोगों को खतरा

टेस्टिकुलर कैंसर का जोखिम सबसे ज्यादा युवाओं में होता है। आमतौर पर टेस्टिकुलर कैंसर 40 से 45 साल की उम्र के लोगों में ज्यादा पाया जाता है। जबकि, ऐसा भी देखा गया है कि इसकी चपेट में 15 से 35 साल के युवा भी आ रहे हैं।

टेस्टिकुलर कैंसर के लक्षण

  • दोनों अंडों का आपस में छोटा या बड़ा दिखना।
  • अंडकोष का भारी महसूस करना।
  • पेट के निचले लेयर में दर्द महसूस करना।
  • अंडकोष में पानी का भर जाना।
  • अंडकोष को टच करने से या कपड़े पहनने में दर्द महसूस होना।
  • कमर और पीठ में लंबे समय से दर्द रहना।
  • पुरुषों के ब्रेस्ट साइज का बढ़ना और हल्का दर्द होना।

ये भी पढ़ें- 32 बीमारियों का शिकार बना सकते हैं प्रोसेस्ड फूड्स, स्टडी में हुआ खुलासा

Disclaimer: उपरोक्त जानकारी पर अमल करने से पहले डॉक्टर या हेल्थ एक्सपर्ट की राय अवश्य ले लें। News24 की ओर से कोई जानकारी का दावा नहीं किया जा रहा है।

First published on: Mar 02, 2024 01:27 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

---विज्ञापन---

संबंधित खबरें
Exit mobile version