Explained: पढ़ते, खेलते, नाचते-गाते लोगों की हो रही हैं मौतें, ताजा मामला बाड़मेर का….वजह जानकार छूट जाएगा पसीना

Cardiac Arrest Death Case: दुनियाभर में इन दिनों अचानक ही दिल का दौरा पड़ने, कार्डियक अरेस्ट होने पर और उसके तुरंत बाद मौत की घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं। ताजा मामला राजस्थान (Rajasthan) के बाड़मेर (Barmer) का है, जहां एक व्यक्ति की अखबार पढ़ते-पढ़ते ही मौत हो गई। वा शख्स दांत में दर्द होने की वजह से अस्पताल में अखबार पढ़ रहा था।

राजस्थान के बाड़मेर जिले में एक व्यापारी की अखबार पढ़ने के दौरान मौत हो गई, जिसका सीसीटीवी फुटेज तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें व्यापारी अखबार पढ़ते नजर आ रहा है और देखते ही देखते उसकी अचानक तबीयत बिगड़ जाती और उसकी मौत हो जाती है। मृतक व्यापारी की शिनाख्त जिले के पचपदरा निवासी दिलीप कुमार (61) के रूप में हुई है, जिनका सूरत में कपड़े का कारोबार है।

अभी पढ़ें Winter Health Care: सर्दियों में शरीर को गर्माहट प्रदान करते हैं गुड़ और मूंगफली, रोजाना जरूर खाएं

 

मृतक बीते 4 नवंबर को किसी सामाजिक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए अपने गांव आया था। वहीं, 5 नवंबर को दांत दर्द होने पर वो बालोतरा के नयापुरा स्थित एक क्लीनिक में चेकअप के लिए गया था, जहां वेटिंग रूम में अखबार पढ़ने के क्रम में व्यापारी की तबीयत बिगड़ी और उसकी मौत हो गई।

इधर, सीट से नीचे गिरने के दौरान वहां मौजूद रिसेप्शनिस्ट उसे संभालने की कोशिश करने लगी, जिसके बाद मौके पर कुछ और लोग पहुंच गए। जिनकी मदद से उसे नाहटा अस्पताल ले जाया गया, जहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

बता दें कि बीते लगभग 6 महीनों में देश के कई राज्यों में इस तरह से दर्जनों मौत हो चुकी हैं। हाल के समय में देशभर से इस तरह के कई वीडियो सामने आए हैं।

केस 1. गुजरात में गरबा खेलने-खेलते मौत

तीन सप्ताह पहले गुजरात के दाहोद में गरबा खेलते-खेलते एक व्यक्ति की मौत हो गई। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हुआ था। यहां मृतक रमेश अपने घर और मोहल्ले के लोगों के साथ वंजारा समाज का गरबा खेल रहे थे। तभी अचानक उनकी तबीयत बिगड़ गई। पहले वो जमीन पर घुटने के बल बैठ गए। फिर उठने की कोशिश की। दो कदम भी ठीक से नहीं चले थे कि गिर पड़े, बाद में अस्पताल ले जाने पर डॉक्टरों ने उनको मृत घोषित कर दिया। मृतक रमेश वंजारा दाहोद के देवगढ़ बाड़िया इलाके में रहते थे।

केस 2. जिम में कुर्सी पर बैठे-बैठे व्यक्ति की मौत

दिवाली से 3 दिन पहले उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद की एक जिम का 38 वर्षीय ट्रेनर कुर्सी पर बैठे-बैठे ही मौत के आगोश में समा गया। जांच के बाद डॉक्टरों ने बताया कि उन्हें दिल का दौरा पड़ा था। यह घटना गाजियाबाद के शालीमार गार्डन की है। यहां आदिल एक जिम चलाते थे। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे सीसीटीवी फुटेज में आदिल जिम के कार्यालय में बैठे हुए दिखते हैं। आसपास कुछ और भी लोग भी हैं। तभी आदिल कुर्सी पर बैठे-बैठे अपना होश खोने लगते हैं। इसके बाद उनके साथी उन्हें तुरंत दिल्ली के जीटीबी अस्पताल लेकर गए। अस्पताल के डॉक्टरों ने उन्हें बताया कि आदिल को दिल का दौरा पड़ा था, जिसके कारण उनकी मौत हुई है।

केस 3. यूपी के बरेली में डांस करते-करते मौत

इसी साल सितम्बर महीने में बरेली के एक होटल में आयोजित बर्थ डे पार्टी में डांस करते-करते आईवीआरआई कर्मचारी 45 वर्षीय प्रभात कुमार की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई थी। पूरी तरह फिट रहने वाले प्रभात बैडमिंटन के खिलाड़ी थे और इस पार्टी में भी बैडमिंटन खेलने के बाद पहुंचे थे। प्रभात कुमार आईवीआरआई में सीनियर टेक्नीशियन असिस्टेंट के पद पर तैनात थे।

केस 4. जम्मू में नाचते-नाचते एक आर्टिस्ट की मौत

कुछ दिनों पहले जम्मू के बिशनाह इलाके में एक आर्टिस्ट की डांस करने के दौरान स्टेज पर जान चली गई थी। हादसा कोथे गांव के गणेश उत्सव कार्यक्रम में हुआ था जब 20 साल का आर्टिस्ट योगेश गुप्ता लड़की की कॉस्ट्यूम पहनकर ऊँ नम: शिवाय भजन पर प्रस्तुति दे रहा था। भजन पर परफॉर्म करने के दौरान कलाकार के पैर लड़खड़ाए। उसने अपने आप को संभालने की कोशिश की, लेकिन वह गिर पड़ा। बहुत देर तक नहीं उठने पर इसके बाद साथी कलाकर उसे डॉक्टर के पास ले गए, लेकिन डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।

केस 5. रामलीला के मंचन के दौरान हनुमान की मौत

उत्तर प्रदेश के फतेहपुर के एक गांव में पिछले महीने नवरात्र के मौके पर देवी जागरण का कार्यक्रम हो रहा था। जागरण में रामलीला का मंचन था। यहां हनुमान का किरदार निभा रहे एक बुजुर्ग की मंचन के दौरान हार्ट अटैक से मौत हो गई। रामलीला देख रही बुजुर्ग की पत्नी और बेटी में कोहराम मच गया। इस हादसे का वीडियो उस समय सोशल मीडिया पर भी वायरल हुआ था। मृतक रामस्वरूप (50 वर्ष) गांव के ही रहने वाले थे जो रामलीला में हनुमान का किरदार निभा रहे थे।

केस 6. मथुरा में डीजे पर डांस करते समय महिला की मौत

इसी साल जुलाई महीने में मथुरा के गोवर्धन में डीजे पर डांस करते समय एक महिला की मौत हो गई थी। यहां एक महिला नाचते-नाचते अचानक जमीन पर गिर गयी उसके बाद साथ में नाच रही अन्य महिलाएं उसे उठाने की कोशिश की लेकिन वह नहीं उठी। अस्पताल में ले जाने पर महिला को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया था। डांस करते समय जान गंवाने वाली महिला राजस्थान के टोडा भीम की रहने वाली थी।

केस 7. मई में मशहूर सिंगर केके की लाइव कॉन्सर्ट के बाद मौत

इसी साल 31 मई को मशहूर सिंगर केके (कृष्ण कुमार कुन्नथ) की कोलकाता में लाइव कॉन्सर्ट के बाद मौत हो गई थी। वे 53 साल के थे। कॉन्सर्ट के ठीक बाद उनकी होटल में तबियत बिगड़ गई। उनकी टीम उन्हें अस्पताल ले गई, लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले ही उन्होंने दम तोड़ दिया था।

कोरोना संक्रमण के बाद बढे़ इस तरह के मामले

कोरोना महामारी के बाद देशभर में हार्ट अटैक के मामले तेजी से बढ़ गए हैं। केवल बुजुर्ग ही नहीं बल्कि यह युवाओं को भी अपना शिकार बना रहा है। देशभऱ में ऐसी कई घटनाएं सामने आई हैं जहां हंसते, गाते और नाचते लोगों को अचानक ही दिल का दौरा आया और उनकी मौके पर ही मौत हो गई। राजस्थान, यूपी, गुजरात और जम्मू-कश्मीर से भी ऐसे मामले सामने आए हैं जहां स्टेज पर प्रस्तुति के दौरान कलाकारों की मौत हो गई थी।

इस तरह से हो रही मौतों पर क्या कहते हैं डॉक्टर?

ऐसे मामलों को लेकर ऑल इंडिया ऑफ मेडिकल साइंसेज (AIIMS) के डॉक्टर संजय राय का कहना है कि ये सच है कोरोना महामारी के बाद देश में हार्ट अटैक या कार्डियोवैस्कुलर के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। लेकिन इसमें यह भी नहीं कहा जा सकता कि ये सभी मौतें इसी वजह से हो रही हैं। अभी दुनिया में इस तरह की हो रही मौतों पर रिसर्च चल रहा है।

WHO ने कहा, कोविड के बाद ऐसी बीमारियां बढ़ी हैं

डॉक्टर संजय राय का कहना है कि हार्ट से जुड़ बीमारियों के कुछ प्रमुख अन्य कारणों कि अगर बात करें तो इसमें डायबिटीज और हाइपरटेंशन सबसे प्रमुख है। इसके अलावा आपकी लाइफस्टाइल से जुड़ी आदतों, जैसे स्मोकिंग आदि से भी हार्ट अटैक की संभावना बढ़ जाती है। वहीं आपकी कोलेस्ट्रोल लेवल और फूडिंग हैबिट का भी हार्ट अटैक से गहरा संबंध होता है। वहीं इस तरह की हो रही मौतों पर WHO ने भी कहा कि कोविड का असर हार्ट पर हुआ है और इससे दिल की बीमारियां बढ़ी हैं।

कोविड वैक्सीन के साइड इफेक्ट पर ये बोले डॉ राय

डॉ संजय राय का कोविड वैक्सीन के साइड इफेक्ट को लेकर कहना है कि भारत में मौजूद कोरोना वैक्सीन और हार्ट अटैक का कोई संबंध नहीं है। हालांकि इसका पूर्ण तरीके से खंडन नहीं किया जा सकता। इनका कहना है कि भारत में मौजूद किसी भी वैक्सीन का हार्ट अटैक या दिल से जुड़ी बीमारियों का कोई लिंक नहीं पाया गया है। लेकिन भारत में जितनी भी कोरोना की वैक्सीन दी जा रही हैं, उनमें से किसी की भी लॉन्ग स्टडी नहीं हुई है। इनकी लॉन्ग टर्म स्टडी की जानी चाहिए।

कार्डिक अरेस्ट होने पर सबसे पहले करें ये काम

AIIMS के डॉक्टर संजय राय का कहना है कि इस तरह की घटना किसी भी व्यक्ति के साथ घटती है और अगर आप वहां मौजूद हैं और आपको सीपीआर (CPR) देना आता है तो आप मरीज की जान बचा सकते हैं। ये एक ऐसी तकनीक है जिससे आप हार्ट अटैक या कार्डिक अरेस्ट आने पर किसी की जान बचा सकते हैं। इसके अलावा उन्होंने कहा कि किसी व्यक्ति को कार्डिक अरेस्ट होने पर सबसे नजदीकी अस्पताल में ले जाना चाहिए, बड़े अस्पताल के चक्कर में नहीं पड़ना चाहिए। क्योंकि इस तरह के मरीज को सबसे जल्दी ऑक्सीजन की जरूरत होती है। डॉ राय ने हाल-फिलहाल में ही इस दुनिया से रुखसत हुए कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव का उदाहरण देते हुए बताया कि उनको कार्डिक अरेस्ट होने के बाद अस्पताल लाने में देरी कर दी गयी थी। उनकी मौत के एक कारण में ये भी है।

अभी पढ़ें Ear Pain Remedies: सर्दी-जुखाम से बंद हो गए हैं कान? तो आजमाएं ये घरेलू उपचार, तुरंत मिलेगा आराम

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताए गए सभी केस हाल ही घटित हुए हैं। इसके अलावा इस तरह की घटनाओं को लेकर जो भी जानकारी दी गयी है वो AIIMS के मशहूर डॉक्टर से बातचीत करके दी गयी है। News24 अचानक हो रही मौतों के पीछे के किसी भी कारण या जानकारी की पुष्टि नहीं करता है।

अभी पढ़ें – हेल्थ से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version