बिहार विधानसभा में 24 अगस्त को बहुमत साबित करेंगे सीएम नीतीश कुमार

पटना: बिहार विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली ‘महागठबंधन’ सरकार का फ्लोर टेस्ट 24 अगस्त को होगा। पहले बताया गया था कि 24 अगस्त को विश्वास मत हासिल करने के लिए विधानसभा सत्र में देरी होगी क्योंकि स्पीकर विजय कुमार सिन्हा ने इस्तीफा देने से इनकार कर दिया है।

पत्रकारों से बात करते हुए, विजय सिन्हा ने कहा, “जब तक मैं इस पद पर हूं, मैं बाहर कोई बयान नहीं दूंगा।” उन्होंने आगे कहा, “सीएम ने एक पत्र भेजा है। उन्होंने हमें विधानसभा सत्र बुलाने को कहा है. सचिव के पास सारी जानकारी है, एक बार फाइल मिलने के बाद हमें और पता चलेगा। बता दें कि मौजूदा स्तिथि में ‘महागठबंधन’ के घटक के पास विधानसभा में 164 सदस्य हैं। भाजपा के पास 77 विधायक हैं।

जनता दल-यूनाइटेड (जद-यू) के भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) से नाता तोड़ने के एक दिन बाद कुमार ने राजभवन में एक सादे समारोह में रिकॉर्ड आठवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। नीतीश कुमार ने एक बार फिर से लालू की पार्टी राजद से हाथ मिला लिया है। राजद के तेजस्वी यादव ने कुमार के साथ उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। जदयू, राजद, कांग्रेस और अन्य पार्टी के नेताओं वाले मंत्रिमंडल का जल्द ही विस्तार होने की संभावना है।

बिहार में नई सरकार का गठन हो चुका है। बताया जा रहा है कि 16 अगस्त को नीतीश कैबिनेट का विस्तार होगा। सूत्रों के हवाले से खबर है कि फिलहाल 34-35 मंत्री बनाए जा सकते हैं। RJD के 16, JDU के 13, कांग्रेस के 4 मंत्री शपथ ले सकते हैं जबकि जीतन राम मांझी के खेमे से एक और एक निर्दलीय विधायक को भी मंत्री बनाया जा सकता है। राज्यपाल से 16 अगस्त का समय मिल चुका है। इसके दो दिन बाद दो दिवसीय विधानसभा सत्र का आयोजन किया जाएगा।

खबर है कि सीएम नीतीश गृह विभाग अपने पास रखेंगे। सूत्रों के मुताबिक, बीजेपी वाले सभी विभाग RJD को ट्रांसफर होंगे।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version