Success Story: बिना कोचिंग IAS अफसर बनी किसान की बेटी, जानें सफलता का राज

Success Story: बिना कोचिंग IAS अफसर बनी किसान की बेटी, जानें सफलता का राज

Sports News24
Neharika GuptaNews243rd December 2021, 9:40 am
4redsx

नई दिल्ली: सफलता की मूल कुंजी है मेहनत। आमतौर पर यूपीएससी (UPSC) की तैयारी में सैकड़ों छात्र हर साल कोचिंग की ओर रुख करते हैं, लेकिन हर साल कुछ ऐसे उम्मीदवार होते हैं जो बिना कोचिंग के अपनी मेहनत की बदौलत यूपीएससी क्लियर करते हैं।

ऐसी ही कहानी मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर की रहने वाली तपस्या परिहार (Tapasya Parihar) की है, जिन्होंने सिविल सर्विस एग्जाम (Civil Service Exam) की तैयारी के लिए कोचिंग जॉइन किया। लेकिन जब सफलता नहीं मिली, तब उन्होंने सेल्फ स्टडी पर भरोसा किया और ऑल इंडिया में 23वीं रैंक हासिल कर आईएएस अफसर बनीं।

12वीं के बाद की लॉ की पढ़ाई
मूल रूप से मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर की रहने वाली तपस्या परिहार (Tapasya Parihar) ने 12वीं तक की पढ़ाई केंद्रीय विद्यालय से की। 12वीं के बाद तपस्या ने पुणे के इंडियन लॉ सोसाइटी लॉ कॉलेज (Indian Law Society’s Law College) में एडमिशन लिया और यहां से वकालत की पढ़ाई की।

लॉ के शुरू की यूपीएससी की तैयारी
रिपोर्ट के अनुसार, पुणे से लॉ की पढ़ाई पूरी करने के बाद तपस्या परिहार (Tapasya Parihar) ने यूपीएससी एग्जाम (UPSC Exam) देने का फैसला किया। एग्जाम की तैयारी के लिए तपस्या ने कोचिंग जॉइन की, लेकिन पहले प्रयास में उन्हें असफलता हाथ लगी और प्री परीक्षा में ही फेल हो गईं।

कोचिंग छोड़ सेल्फ स्टडी पर किया फोकस
यूपीएससी एग्जाम में पहले प्रयास में असफलता के बाद तपस्या परिहार (Tapasya Parihar) ने कोचिंग छोड़ दी और खुद मेहनत करने का फैसला किया। इसके बाद उन्होंने सेल्फ स्टडी पर फोकस किया। दूसरे प्रयास के लिए जब तपस्या ने पढ़ाई शुरू की तो उनका टारगेट ज्यादा से ज्यादा नोट्स बनाने और आंसर पेपर सॉल्व करने पर था।

सेल्फ स्टडी से पाई सफलता
तपस्या परिहार (Tapasya Parihar) ने यूपीएससी एग्जाम (UPSC Exam) की तैयारी के लिए रणनीति में बदलाव किया और कड़ी मेहनत की। उन्होंने एग्जाम से पहले रिवीजन पर ध्यान दिया और कई आंसर पेपर सॉल्व कर डाले। इसके बाद तपस्या की मेहनत रंग लाई और उन्होंने सिविल सर्विस एग्जाम 2017 में ऑल इंडिया में 23वीं रैंक प्राप्त कर आईएएस बनने में सफल रहीं।

सफलता की बात करते हुए तपस्या कहती हैं- “पता नहीं लोग कैसे 14 से 16 घंटे तक पढ़ाई कर लेते हैं, मैं तो रोज 8-10 घंटे और मेन्स के समय में 12 घंटे तक की पढ़ाई की थी। इससे ज्यादा मैं पढ़ ही नहीं पाई”।



देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक , टेलीग्राम , गूगल न्यूज़ .