Sardar Patel Quote: सरदार वल्लभ भाई पटेल के 10 अनमोल विचार, जो आपके लिए बन सकते हैं प्रेरणास्रोत

Sardar Patel Quote: सरदार वल्लभ भाई पटेल के 10 अनमोल विचार, जो आपके लिए बन सकते हैं प्रेरणास्रोत

Sports News24
Nirmal Kumar PareekNews2431st October 2021, 10:16 am
sardar patel 3

National Unity Day 2021: आजादी के बाद देश को राष्ट्रीयता के एक सूत्र में पिरोने वाले लौहपुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल की आज 146वीं जयंती है। सरदार पटेल की जयंती को राष्ट्रीय एकता दिवस (National Unity Day) के रूप में मनाया जाता है। सरदार पटेल एक स्वतंत्रता संग्राम सेनानी तथा आजाद भारत के पहले गृहमंत्री व उप प्रधानमंत्री थे। स्वतंत्रता की लड़ाई में उनका महत्वपूर्ण योगदान था, जिसके कारण उन्हें भारत का लौह पुरुष भी कहा जाता है।

य‍ह दिवस प्रतिवर्ष 31 अक्‍टूबर को पूरे भारतवर्ष में मनाया जाता है। इस दिन भारत के लोह पुरूश सरदार वल्‍लभ भाई पटेल का जन्‍म हुआ था उसी उपलक्ष्‍य में प्रतिवर्ष 31 अक्‍टूबर को राष्‍ट्रीय एकता दिवस मनाया जाता है। तथा उनके द्वारा किऐ गऐ सभी कार्यो को याद करते हुऐ श्रद्धांजलि देते है। इस दिवस की शुरूआत सन 2014 में केन्‍द्र सरकार द्वारा की गई थी। तब से यह दिवस लगातार मनाया जा रहा है। स्टैच्यू आफ यूनिटी का अनावरण 2018 में किया गया था। सरदार पटेल की यह प्रतिमा 182 मीटर ऊंची है और यह दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा है।

सरदार वल्लभ भाई पटेल के विचार समाज के लिए, युवाओं के लिए, देश के लिए, हम सब के लिए एक प्रेरणास्त्रोत हैं। आज जब देश राजनीतिक नपुंसकता से गुजर रहा है तब सरदार वल्लभ भाई पटेल के विचार इस देश के नेताओ के साथ साथ हर नागरिक को पता होना चाहिए। हम सिर्फ उनकी मूर्ति बनाकर नहीं छोड़ सकते। बल्कि इस देश के हर छात्र को सरदार पटेल के विचारों से अवगत कराया जाना चाहिए। सरदार पटेल के विचार , जिन्होंने स्वतंत्रता संग्राम के दौरान जनता को भारत की स्वतंत्रता की लड़ाई में कूदने के लिए प्रेरित किया। उनके बहुत से अनमोल विचारों में से चुने हुए सरदार वल्लभ भाई पटेल के विचार लिखे गए हैं –

भारत के बंटवारे को लेकर भी सरदार पटेल ने कहा था कि –

“हमने यह महसूस किया है कि यदि हमने विभाजन स्वीकार नहीं किया तो भारत छोटे – छोटे टुकड़ों में विभाजित होकर विनष्ट हो जाएगा। कार्यालय में मेरे एक वर्ष के अनुभव से मुझे ज्ञात हुआ कि हम जिस रास्ते पर चल रहे थे वह हमें विनाश की ओर ले जा रहा था। ऐसा करने पर हमारे पास एक नहीं कई पाकिस्तान होते। हमारे प्रत्येक कार्यालय में एक पाकिस्तानी शाखा होती।”

1. “आज हमें ऊंच-नीच, अमीर-गरीब, जाति-पंथ के भेदभावों को समाप्त कर देना चाहिए।”

2. “मनुष्य को ठंडा रहना चाहिए, क्रोध नहीं करना चाहिए। लोहा भले ही गर्म हो जाए, हथौड़े को तो ठंडा ही रहना चाहिए अन्यथा वह स्वयं अपना हत्था जला डालेगा। कोई भी राज्य प्रजा पर कितना ही गर्म क्यों न हो जाये, अंत में तो उसे ठंडा होना ही पड़ेगा।”

3. “अक्सर मैं, ऐसे बच्चे जो मुझे अपना साथ दे सकते हैं, के साथ हंसी-मजाक करता हूँ। जब तक एक इंसान अपने अन्दर के बच्चे को बचाए रख सकता है तभी तक उसका जीवन उस अंधकारमयी छाया से दूर रह सकता है, जो इंसान के माथे पर चिंता की रेखाएं छोड़ जाती है।”

4. “अगर आपके पास शक्ति की कमी है तो विश्वास किसी काम का नहीं। क्योंकि महान उद्देश्यों की पूर्ति के लिए, शक्ति और विश्वास दोनों का होना जरूरी है।”

5. “कठोर-से-कठोर हृदय को भी प्रेम से वश में किया जा सकता है। प्रेम तो प्रेम है। माता को अपना काना-कुबड़ा बच्चा भी सुंदर लगता है और वह उससे असीम प्रेम करती है।”

6. “कर्तव्यनिष्ठ पुरूष कभी निराश नहीं होता। अतः जब तक जीवित रहें और कर्तव्य करते रहें, तो इसमें पूरा आनन्द मिलेगा।”

7. “स्वतंत्र भारत में कोई भी भूख से नहीं मरेगा। अनाज निर्यात नहीं किया जायेगा। कपड़ों का आयात नहीं किया जाएगा। इसके नेता ना विदेशी भाषा का प्रयोग करेंगे ना किसी दूरस्थ स्थान, समुद्र स्तर से 7000 फुट ऊपर से शासन करेंगे। इसके सैन्य खर्च भारी नहीं होंगे, इसकी सेना अपने ही लोगों या किसी और की भूमि को अधीन नहीं करेगी। इसके सबसे अच्छे वेतन पाने वाले अधिकारी इसके सबसे कम वेतन पाने वाले सेवकों से बहुत ज्यादा नहीं कमाएंगे और यहाँ न्याय पाना ना खर्चीला होगा, ना कठिन होगा।”

8. “बेशक कर्म पूजा है किन्तु हास्य जीवन है। जो कोई भी अपना जीवन बहुत गंभीरता से लेता है। उसे एक तुच्छ जीवन के लिए तैयार रहना चाहिए। जो कोई भी सुख और दुःख का समान रूप से स्वागत करता है वास्तव में वही सबसे अच्छी तरह से जीता है।”

9. “इस मिट्टी में कुछ अनूठा है, जो कई बाधाओं के बावजूद हमेशा महान आत्माओं का निवास रहा है।”

10. “मेरी एक ही इच्छा है कि भारत एक अच्छा उत्पादक हो और इस देश में कोई अन्न के लिए आंसू बहाता हुआ भूखा ना रहे।”



देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक , टेलीग्राम , गूगल न्यूज़ .