पहली बार एक साथ 11 मुस्लिम महिलाएं बनीं दारोगा, सरकार द्वारा संचालित कोचिंग में ली थी ट्रेनिंग

पहली बार एक साथ 11 मुस्लिम महिलाएं बनीं दारोगा, सरकार द्वारा संचालित कोचिंग में ली थी ट्रेनिंग

Sports News24
Neharika GuptaNews2423rd June 2021, 12:56 pm
00

हाल ही में बिहार पुलिस अधीनस्थ सेवा आयोग ने बीते गुरुवार को पुलिस सब-इंस्पेक्टर, सार्जेंट और सहायक अधीक्षक जेल के पदों के लिए अंतिम रिजल्ट घोषित कर दिया। इस बार की परीक्षा में मुस्लिम महिलाओं ने बाजी मारी है। ऐसा पहली बार हुआ है कि बिहार में एक साथ 11 मुस्लिम महिलाएं दारोगा बनी हैं। इसके अलावा 44 मुस्लिम पुरुषों का भी चयन हुआ है। यानी कि कुल 55 प्रतिशत में 20 प्रतिशत मुस्लिम महिलाएं दारोगा बनी हैं। 11 चयनित महिलाओं ने बिहार की राजधानी पटना में स्थित हज भवन बिहार सरकार द्वारा संचालित कोचिंग में ट्रेनिंग ली थी। किसी ने मेन्स की कोचिंग की तो किसी ने फिजिकल के लिए ट्रेनिंग ली।

सरकार द्वारा संचालित कोचिंग में ली ट्रेनिंग
बता दें कि जिन मुस्लिम महिलाओं ने परीक्षा में सफलता हासिल की है, उन्होंने बिहार की राजधानी पटना स्थित हज भवन बिहार सरकार द्वारा संचालित कोचिंग में ट्रेनिंग ली थी। किसी ने मेन्स में कोचिंग की तो किसी ने फिजिकल के लिए ट्रेनिंग ली।

हज भवन में संचालित कोचिंग में अभ्यर्थियों का मार्गदर्शन करने वाले राशिद हुसैन ने बताया कि पहली बार इतनी संख्या में मुस्लिम महिलाएं दारोगा बनी हैं। ये बहुत खुशी की बात है। अगली बार इससे और बेहतर किया जाएगा।

पिछली बार पांच महिलाओं का हुआ था चयन
बता दें कि इससे पहले जब राज्य में दारोगा बहाली हुई थी तो उसमें 5 मुस्लिम महिलाएं चयनित हुई थीं। लेकिन इस बार महिलाओं ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। रिजल्ट जारी होने के बाद हज भवन में मंगलवार को एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था, जिसमें परीक्षा में सफल हुए सभी अभ्यर्थियों को बुलाया गया था। गौरतलब है कि हज भवन से इस बार जहां 55 अभ्यर्थी दारोगा बने। वहीं, 222 अभ्यर्थियों का बतौर सिपाही में चयन हुआ है।



देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक , टेलीग्राम , गूगल न्यूज़ .