बिहार STET अभ्यर्थियों के लिए बड़ी अपडेट, 37440 शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया जल्द होगी शुरू, ऐसे चेक करे नोटिफिकेशन

बिहार STET अभ्यर्थियों के लिए बड़ी अपडेट, 37440 शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया जल्द होगी शुरू, ऐसे चेक करे नोटिफिकेशन

Sports News24
Neharika GuptaNews2426th June 2021, 6:19 am
Teacher Jobs

बिहार के सरकारी विद्यालयों में शिक्षकों के खाली पड़े पड़ अब भरे जाएंगे। इसको लेकर शिक्षा विभाग ने रणनीति बना ली है और बहाली की रूपरेखा भी तैयार कर ली है। जहां छठे चरण यानि प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षकों की बहाली प्रक्रिया तेजी से चल रही है, वहीं एसटीईटी रिजल्ट जारी होने और मेरिट लिस्ट तैयार होने के बाद अब माध्यमिक स्कूलों में भी शिक्षक बहाल हो सकेंगे। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत मानकों को पूरा करने में अब सरकार जुट गई है। यही वजह है कि सरकार ने जहां लक्ष्य रखा है कि 15 अगस्त तक छठे चरण यानी प्रारंभिक स्कूलों में कुल 92 हजार शिक्षकों की बहाली प्रक्रिया पूर्ण हो जाए, वहीं अक्टूबर माह तक हर हाल में माध्यमिक स्कूलों में यानी 37 हजार 440 शिक्षकों की बहाली भी पूरी हो जाए।

शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी (Education Minister Vijay Kumar Choudhary) अपने विभाग के अधिकारियों के साथ 4 बार बैठक भी कर चुके हैं। उन्होंने शिक्षक बहाली को लेकर अधिकारियों को समय सीमा के भीतर टास्क पूरा करने का निर्देश दिए हैं। माध्यमिक शिक्षा निदेशालय की मानें तो सातवें चरण में 37 हजार 440 माध्यमिक और उच्च माध्यमिक स्कूलों में शिक्षकों की नियुक्ति होगी, जिनमें 25 हजार 270 माध्यमिक और 12170 उच्च माध्यमिक शिक्षक बहाल होंगे।

राज्य में हाई स्कूलों की कमी को देखते हुए पिछले वर्ष ही कई पंचायतों में मध्य विद्यालयों को अपग्रेड कर माध्यमिक स्कूलों का दर्जा दिया गया था। वहीं, माध्यमिक स्कूलों को अपग्रेड कर प्लस 2 स्कूलों का दर्जा दिया गया था। जिसके बाद शिक्षकों की बड़ी संख्या में पद खाली पड़े हैं और विषयवार शिक्षकों की बहाली करनी एक बड़ी चुनौती बनी हुई है। विषयवार शिक्षकों को भरने के लिए पहले ही मंत्री परिषद से मंजूरी भी मिल चुकी है और अब एसटीईटी रिजल्ट जारी होने के बाद कवायद तेज हो गई है।

हालाकि रिजल्ट और मेरिट लिस्ट जारी होने के बाद बोर्ड के रवैये पर सवाल भी खड़े हुए हैं और हंगामा और आंदोलन पर विराम नहीं लग रहा है। जहां हजारों अभ्यर्थियों का रिजल्ट इनवैलिड बता रहा है वहीं महिला अभ्यर्थियों को 45 प्रतिशत पर मेरिट लिस्ट में जगह नहीं दी गई। इनवैलिड वाले भी रिजल्ट की मांग कर रहे हैं, जिनका रिजल्ट ना ही फेल और ना ही पास बता रहा है।

बहरहाल सरकार और अभ्यर्थियों के बीच जारी इन विवादों के बीच बेल्ट्रॉन से लेकर बिहार बोर्ड और शिक्षा विभाग तक के रवैये पर सवाल उठ गया है। हालांकि मेरिट लिस्ट में गड़बड़ी के आरोप के बाद शिक्षा विभाग द्वारा गठित 4 सदस्यीय कमिटी की रिपोर्ट भी 29 जून को आने वाली है जिसके बाद बाकि अभ्यर्थियों के लिए भी कुछ रास्ता खुलने की उम्मीदें हैं।



देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक , टेलीग्राम , गूगल न्यूज़ .