CBSE Board Exam 2021: जानिए शिक्षा मंत्री निशंक ने छात्रों से क्या-क्या कहा? जानें पूरी डिटेल

CBSE Board Exam 2021: जानिए शिक्षा मंत्री निशंक ने छात्रों से क्या-क्या कहा? जानें पूरी डिटेल

Sports News24
Neharika GuptaNews2425th June 2021, 12:06 pm
233444444

सीबीएसई 10वीं, 12वीं रिजल्ट 2021 जल्द घोषित होने वाले हैं। इस बीच केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ (Ramesh Pokhriyal Nishank) ने छात्र-छात्राओं, अध्यापकों और सभी अभिभावकों से संवाद किया। हालांकि इस संवाद में सिर्फ शिक्षा मंत्री का 3 मिनट 42 सेकेंड का संदेश था।

शिक्षा मंत्री ने छात्रों के लिए क्या संदेश दिया?
शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने अपने लाइव सत्र के दौरान एक बार फिर छात्रों के स्वास्थ्य के प्रति चिंता जाहिए की और वही पुरानी बातें दोहराई जो पहले ही कहा जा चुका है।

प्रिय छात्र, छात्राओं, आदरणीय अध्यापक गण और मेरे सम्मानित अभिभावक गण, आशा है आप सभी स्वस्थ्य होंगे। इधर मैं अपनी उपचार के चलते आपसे सीधे बात नहीं कर पा रहा था। आपके बहुत सारे मेल और मेरे सोशल मीडिया पर मुझसे बात करने की इच्छा व्यक्त की जाती रही है। कुछ सवाल भी आपके मन में थे। जिनका समाधान आपको मिल गया।’

‘जैसा कि आप सभी जानते ही हैं कि हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी लगातार आप 30 करोड़ से भी अधिक छात्र-छात्राओं से विशेष लगाव रखते हैं। उन्होंने अपने निर्णय से आपका स्वास्थ्य और सुरक्षा साथ ही साथ भविष्य की चिंता करते हुए जिस तरीके से ऐतिहासिक मार्गदर्शन देकर 12वीं की परीक्षा को निरस्त करने का फैसला किया। करोड़ों लोग अपने प्रधानमंत्री का आभार प्रकट करते हैं।’

‘जैसा कि आपको मालूम है कि CBSE ने व्यापक दिशा-निर्देश भी जारी कर दिए हैं। और ये आपको प्राप्त हो भी गए। सीबीएसई ने जो मूल्यांकन पद्धति तैयार की है. जिसमें सभी के साथ उनकी योग्यता, प्रखरता के अनुरूप ही परिणाम प्राप्त होगा।’

‘मैं सुप्रीम कोर्ट का भी बहुत आभारी हूं जिन्होंने CBSE के उक्त पूरे प्रस्ताव पर अपनी सहमति प्रदान कर आपकी सुरक्षा और आपकी भविष्य के प्रति हमको समर्थन प्राप्त किया है। हमको आश्वस्त किया है कि अपना निर्णय CBSE के प्रस्तान के अनुरूप दिया है।’

‘मैं उन्हें यहां आश्वस्त भी कर रहा हूं जिनके मन में अभी भी बहुत सारे सवाल हैं, आशंकाएं हैं, यदि आप इस मूल्यांकन से संतुष्ट नहीं होंगे तो आप उसकी चिंता मत करिए। आपके लिए हम वैकल्पिक परीक्षा करने के लिए तैयार हैं।’

‘जो भी छात्र जिन्हें लगता है कि उसकी योग्यता के साथ न्याय नहीं हो रहा है, निश्चित उसकी योग्यता के साथ न्याय होगा। और उसकी परीक्षा हम अगस्त में कराएंगे।’

‘आपकी सुरक्षा, स्वास्थ्य औ आपका भविष्य हमेशा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता रहेगी।’

सुप्रीम कोर्ट ने क्या आदेश दिया?
उच्चतम न्यायालय ने गुरुवार को राज्य शिक्षा बोर्डों को बारहवीं कक्षा के आतंरिक मूल्यांकन के परिणाम 31 जुलाई तक घोषित करने का निर्देश दिया। न्यायालय ने कहा कि देशभर में छात्रों के मूल्यांकन के लिए एक जैसी पद्धति बनाने के बारे में वह कोई निर्देश नहीं देगा।

 



देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक , टेलीग्राम , गूगल न्यूज़ .